Author : रवि भूषण

36 Posts - 0 Comments
लेखक वरिष्ठ आलोचक हैं.
जनमत

मजदूर वर्ग न झुका, ना टूटा है, वह आगे ही बढ़ता गया है

रवि भूषण
लाॅक डाउन करने वाला मजदूर आज स्वयं लॉक डाउन में है. केवल मजदूर और श्रमिक वर्ग ही नहीं उनका साथ देने वाले व्यक्ति, समूह, संगठन...
जनमत

उन्नीस दिनों को दूसरा लाॅक डाउन

रवि भूषण
14 अप्रैल को सुबह 10 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में कोरोना से ‘बहुत मजबूती के साथ’ ‘भारत की लड़ाई’ के...
जनमत

यह  मनुष्य होने का समय है

रवि भूषण
संभव है, इस शीर्षक से कइयों को आपत्ति हो क्योंकि इसकी अर्थ ध्वनि में हमारे ‘मनुष्य’ होने पर प्रश्न है। दशकों से एक हिंदी फिल्म...
जनमत

कोरोना महामारी, लाॅक डाउन और रोजी-रोटी का महासंकट

रवि भूषण
चारों ओर कोरोना का शोर हैं. बच्चा-बच्चा अब इस शब्द से जो मात्र शब्द नहीं एक महामारी है, परिचित हो चुका है। कोरोना एक वायरस...
जनमत

न्यायपालिका से जुड़ी कुछ चिन्ताएं

रवि भूषण
कुछ समय से न्यायपालिका को लेकर सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकीलों में कुछ अधिक चिंताएं देखने-सुनने को मिल रही है । यह घटने के बजाय...
खबर जनमत

असहयोग आन्दोलन की याद

रवि भूषण
100 वर्ष पहले के असहयोग आंदोलन को याद करने की आज अधिक जरूरत है। असहयोग आंदोलन की शतवार्षिकी के अवसर पर इतिहास के उन पुराने...
खबर जनमत

एक नयी राजनीति का शुभारम्भ

रवि भूषण
दिल्ली विधानसभा में आम पार्टी की बड़ी जीत के बाद एक नई राजनीति का शुभारंभ हुआ है। यह नई राजनीति ध्रुवीकरण और राष्ट्रवाद की राजनीति...
खबर जनमत

लोकतंत्र और संविधान को बचाना आज के भारत की सबसे बड़ी जरूरत है

रवि भूषण
आज दिल्ली विधानसभा का चुनाव हैं। दिल्ली को आपमुक्त करने के लिए भाजपा ने केवल कमर ही नहीं कसी है, किसी प्रकार चुनाव जीतने के...
खबर जनमत

शाहीनबाग और शांतिबाग की औरतें

रवि भूषण
शाहीनबाग दिल्ली में है और शांतिबाग बिहार के गया में। शाहीनबाग दक्षिण दिल्ली का एक मुस्लिम बहुल इलाका है जो दिल्ली से नोएडा जाने वाली...
खबर जनमत

जेएनयू पर हमला मस्तिष्क, संवाद , बहस , चिंतन, सत्य और न्याय पर हमला है

रवि भूषण
अमेरिकी दार्शनिक जैसन स्टेनले (जन्म 12 अक्टूबर 1969) की पुस्तक ‘हाउ फासिज्म वर्क्स द पॉलिटिक्स ऑफ यूएस एंड देम 2018’ का एक अध्याय एंटी इंटेलेक्चुअल...
जेरे बहस

गांधी और गोडसे

रवि भूषण
गांधी की डेढ़ सौ वीं वर्षगांठ के अवसर पर गांधी और उनके हत्यारे नाथूराम विनायक गोडसे (19 मई 1910-15 नवंबर 1949) पर विचार इसलिए आवश्यक...
जनमत

न्यायपालिका से जुड़ी कुछ चिन्ताएं

रवि भूषण
भारतीय न्यायपालिका से जुड़े कतिपय सवाल सामान्य नागरिकों के लिए भी कम महत्वपूर्ण नहीं हैं। भारत का शीर्ष न्यायालय सर्वोच्च न्यायालय है जिसके नीचे उच्च...
जनमत

घोषित और अघोषित आपातकाल

रवि भूषण
पिछले 5 वर्ष से देश में ही नहीं विदेश में भी भारत में अघोषित आपातकाल की चर्चा हो रही हैं। उस पर लेख आदि लिखे...
जेरे बहस

सावरकर, सुभाष चन्द्र बोस और भगत सिंह

रवि भूषण
इस महीने सावरकर पर दो पुस्तकें प्रकाशित हुईं। 8 अगस्त को विक्रम सम्पत की 624 पृष्ठों की पुस्तक ‘सावरकर: इकोज फ्रॉम द फॉरगॉटेन पास्ट ;1983-1924द्ध...
जेरे बहस

जम्मू कश्मीर के साथ केन्द्र का सुलूक

रवि भूषण
अब जम्मू कश्मीर राज्य नहीं केंद्र शासित प्रदेश है। क्यों है ? उसके टुकड़े कर दिये गये हैं और लद्दाख को बिना विधानसभा का केंद्र...
जनमत

सत्रहवीं लोकसभा के माननीय सांसद

रवि भूषण
17वीं लोकसभा में 36 दलों के 538 और चार निर्दलीय सांसद हैं। 15 दलों के जिनमें जनता दल सेकुलर, अन्नाद्रमुक, आप, झामुमो , आजसू, एनडीपीपी,...
जनमत

बेगूसराय का चुनाव सबसे अलग है

रवि भूषण
इस चुनाव में पूरे देश के संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में से सर्वाधिक महत्वपूर्ण क्षेत्र बिहार का बेगूसराय है। जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष और भाकपा...
जेरे बहस

हेमन्त करकरे और साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

रवि भूषण
हेमंत करकरे ( 12 दिसंबर 1954-27 नवंबर 2008) 1982 बैच के आईपीएस अधिकारी थे जो बाद में मुंबई के आतंक विरोधी दस्ते के प्रमुख रहे...
जनमत

मोदीराग का अर्थ और उसकी दिशाएं

रवि भूषण
अन्तःमिश्रण के इस दौर में जैसी मिलावटी-घुलावट है, वैसी पहले कभी नहीं थी। कला और साहित्य के रूपों में ही नहीं, उससे इतर इधर विविध...
जनमत

इस चुनाव में हमारी-आपकी भूमिका

रवि भूषण
17वीं लोकसभा चुनाव के समय अब यह सवाल पूछना आवश्यक है कि इस चुनाव में कवियों, लेखकों, पत्रकारों, प्रोफेसरों, शिक्षकों, शिक्षितों-सुशिक्षितों, बुद्धिजीवियो, वैज्ञानिको, चिंतकों, विचारकों...