समकालीन जनमत

Author : समकालीन जनमत

715 Posts - 0 Comments
कविता

कल्पना झा की कविताएँ जो कुछ भी सुंदर है उसे बचा ले जाने की कोशिश हैं

समकालीन जनमत
आनंद गुप्ता रंगकर्मी एवं अभिनेत्री कल्पना झा की कविताओं में स्त्री मन की गहरी समझ है. इनकी कविताओं से गुजरते हुए हम स्त्रियों के दुख...
ख़बर

दिल्ली आशा कामगार यूनियन (ऐक्टू) ने निकाला ‘आशा अधिकार मार्च’ – दिल्ली की सड़कों पर गूंजी आशा कर्मियों की आवाज़

समकालीन जनमत
श्वेता राज दिल्ली आशा कामगार यूनियन (ऐक्टू) के बैनर तले आज राजधानी के मंडी हाउस गोल चक्कर से सैकड़ों आशाओं ने ‘आशा अधिकार मार्च’ निकाला।...
ख़बर

रोज़गार अधिकार सम्मेलन में छात्र-युवा-सामाजिक न्याय विरोधी नीतियों के खिलाफ बड़ी लड़ाई का संकल्प

समकालीन जनमत
लखनऊ। बेरोज़गारी की समस्या के खिलाफ एक मुकम्मल लड़ाई खड़ी करने तथा सम्मानजनक रोज़गार की माँग के साथ बने 10 से अधिक छात्र युवा संगठनों...
स्मृति

‘ रचना, विचार और आन्दोलन के साथी थे सुरेश पंजम ’

समकालीन जनमत
लखनऊ। नागरिक परिषद व पीपुल्स यूनिटी फोरम के संयुक्त तत्वावधान में साहित्यकार, शिक्षक व सामाजिक चिंतक डा. एस. के. पंजम की याद में 19 सितम्बर...
कविता

अनामिका अनु की कविताएँ स्त्री विमर्श को कई कोणों से देखती हैं

समकालीन जनमत
विशाखा मुलमुले   अनामिका अनु जी मूलतः बिहार की रहवासी हैं व कर्मभूमि से केरल की हैं। मैं जब उनकी कविताएँ पढ़ती हूँ तो कविता...
ख़बर

100 से अधिक शिक्षक-कर्मचारी संगठन सरकार के खिलाफ लामबंद, 30 नवम्बर को महारैली की घोषणा

समकालीन जनमत
कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी एवं पेंशनर्स अधिकार मंच का गठन किया, योगी सरकार पर कर्मचारियों-शिक्षकों के अधिकार छीनने का आरोप लगाया  लखनऊ। प्रदेश के 100 से अधिक...
ख़बर

दिल्ली आशा कामगार यूनियन (ऐक्टू) अपनी मांगों को लेकर चला रही हैं पोस्टकार्ड कैंपेन

समकालीन जनमत
श्वेता राज ऐक्टू से सम्बद्ध दिल्ली आशा कामगार यूनियन (ऐक्टू) ने दिल्ली में कार्यरत आशाओं के बीच ‘चुप्पी तोड़ो पोस्टकार्ड अभियान’ शुरू किया है. इस...
ख़बर

प्रधानमंत्री के जन्मदिन को ‘ राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस ’ के रूप में मनाएगी इंकलाबी नौजवान सभा

समकालीन जनमत
भुवनेश्वर। इंकलाबी नौजवान सभा (इनौस) की राष्ट्रीय परिषद की दो दिवसीय बैठक 11-12 सितंबर को  भुवनेश्वर हुई। बैठक मे 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...
स्मृति

‘ जब भी समाज में अंधेरा गहराता है, विचार के गर्भ से उठती है आंधी ’

समकालीन जनमत
 काॅ. बृजबिहारी पांडे की स्मृति सभा में जुटे देश के विभिन्न हिस्सों के वामपंथी नेता पटना। भूमिहीन गरीब किसानों के ऐतिहासिक नक्सलबाड़ी उभार के दौर के...
पुस्तक

स्मृतियों के कथ्य में जीवनानुभव की अभिव्यक्ति

समकालीन जनमत
राम विनय शर्मा ‘ग़ाज़ीपुर में क्रिस्टोफर कॉडवेल’ पत्रकार और लेखक उर्मिलेश के संस्मरणों का संकलन है। ‘प्रमुखतः इसमें साहित्य-संस्कृति और मीडिया से सम्बद्ध लोगों, प्रसंगों...
Fearlessly expressing peoples opinion

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy