Friday, July 1, 2022

ख़बर

कौशल किशोर को मिला जनकवि केदारनाथ अग्रवाल सम्मान

यह साहित्य की प्रगतिशील-जनवादी परंपरा और संघर्षशील धारा का सम्मान है - कौशल किशोर कौशल किशोर ने रचना कर्म को सामाजिक कर्म का हिस्सा बनाया- दिनेश प्रियमन केदार जी की परंपरा संघर्षशील रचनाकारों से आगे बढ़ती है - अजीत प्रियदर्शी जनवादी लेखक...

जनमत

ग्राउन्ड रिपोर्ट

मल्टीमीडिया

साहित्य-संस्कृति

‘ शोषित-पीड़ित अवाम की आत्मपीड़ा व प्रतिरोध के बड़े साहित्यकार हैं ओमप्रकाश वाल्मीकि ’

दरभंगा। आज मशहूर इंक़लाबी कवि ओमप्रकाश वाल्मीकि की जयंती के अवसर पर प्राक परीक्षा प्रशिक्षण केंद्र, दरभंगा पर जनसंस्कृति मंच दरभंगा के तत्वावधान में...

अंबेडकर और समाजवाद

2021 में पालग्रेव मैकमिलन से वी गीता की किताब ‘भीमराव रामजी अंबेडकर ऐंड द क्वेश्चन आफ़ सोशलिज्म इन इंडिया’ का प्रकाशन हुआ। लेखिका अंबेडकर...

नेहा नरुका की कविताएँ समझ और साहस के संतुलन की अभिव्यक्ति हैं

मदन कश्यप युवा कवि नेहा नरूका का यथार्थ को देखने का दृष्टिकोण इतना अलग और मौलिक है कि वह आकर्षित ही नहीं करता, बल्कि कई...

समर न जीते कोय-16

(समकालीन जनमत की प्रबन्ध संपादक और जन संस्कृति मंच, उत्तर प्रदेश की वरिष्ठ उपाध्यक्ष मीना राय का जीवन लम्बे समय तक विविध साहित्यिक, सांस्कृतिक,...

कौशल किशोर को मिला जनकवि केदारनाथ अग्रवाल सम्मान

यह साहित्य की प्रगतिशील-जनवादी परंपरा और संघर्षशील धारा का सम्मान है - कौशल किशोर कौशल किशोर ने रचना कर्म को सामाजिक कर्म का हिस्सा बनाया-...

आजमगढ़ को आर्यमगढ़ बनाने के नारे के साथ सपा से जीतने की कोशिश में भाजपा

आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव के लिए आज शाम चुनाव प्रचार थम जाएगा. स्टार प्रचारकों के काफिले जो आजमगढ़ की उबड़- खाबड़ सड़कों पर दौड़ रहे...

बुलडोज़र राजनीति, महिला हिंसा, महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ ऐपवा ने लखनऊ में धरना दिया

लखनऊ। भाजपा की बुलडोज़र राजनीति, महिला हिंसा, बेताहाशा बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ ऐपवा ने आज लखनऊ के इकोगार्डन में राज्यस्तरीय धरना दिया।...

पीटर ग्रे की दृष्टि में शिक्षा का प्रतिदर्श

राम विनय शर्मा शिक्षा मनुष्य के चहुँमुखी विकास का सबसे प्रमुख माध्यम है। विद्वानों ने शिक्षा को तरह-तरह से परिभाषित करने का प्रयास किया है।...

मनीष आज़ाद की कविताएँ क्रांति की कामना को बचाए रखती हैं

प्रियदर्शन मूलतः अपनी सामाजिक सक्रियता और मानवाधिकारों के पक्ष में अपनी लड़ाई की वजह से सत्ता की आंखों की किरकिरी बने और जेल तक जा...

‘मन एव मनुष्याणां-सृष्टि-चक्र: एक लम्बी कविता’ के बहाने कविता में सभ्यता समीक्षा

प्रसन्न कुमार चौधरी की एकमात्र कविता ‘सृष्टि-चक्र’ के बारे में हिंदी बौद्धिकों के बीच बहुत कम बातचीत हुई । इसका कारण यह भी था...

नागरिक समाज ने किया उ.प्र. सरकार की बुलडोजर नीति के खिलाफ शांतिपूर्ण धरना

16 जून 2022, प्रयागराज आज पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार पत्थर गिरजा, सिविल लाइंस में इलाहाबाद नागरिक समाज के बैनर तले शांतिपूर्ण लोकतांत्रिक तरीके से...

राँची में हिंसा और प्रशासनिक विफलता की झारखंड जनाधिकार महासभा ने की निंदा

रांची में हुई हिंसा और पुलिस व प्रशासन के विफलता का महासभा कड़ी निंदा करता है 10 जून 2022 को रांची के में रोड पर...

जयंती मिलन के मौके पर क्रांतिकारी सांस्कृतिक योद्धा कबीर और नागर्जुन पूरी शिद्दत से याद किए गए

दिनांक 14-06-2022 को कबीर एवं नागार्जुन जयंती के अवसर पर प्राक परीक्षा प्रशिक्षण केंद्र, दरभंगा पर जनसंस्कृति मंच दरभंगा के तत्वावधान में पूरी शिद्दत...

‘औरत ही रोती है पहले’- रोशनी में अंधेरे की पड़ताल करती कविताएँ

लखनऊ, 12 जून। मिथिलेश श्रीवास्तव की कविताओं का तीसरा संग्रह है ‘औरत ही रोती है पहले’। यह पिछले दिनों परिकल्पना प्रकाशन, दिल्ली से आया।...

प्रिया वर्मा की कविताएँ शुचितावादी धारणाओं को धता बताती हैं

जोशना बैनर्जी आडवानी "आम्रपाली की कथा बांचो परिव्राजक! और अब कहो कि तुम्हारे डर को मिट जाना चाहिए। उस गलफंद को कहूँ मैं धन्यवाद? मुझे इतना उदार मन भी...
  अमित ओहलान   “चौबर दे चेहरे उत्ते नूर दसदा नि ऐदा उठुगा जवानी च्च जनाज़ा मिठिये.” जिस घर में जवान मौत हो जाए वो घर फिर घर...
जाहिद खान सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में एक महत्वपूर्ण सुनवाई करते हुए राजद्रोह के मामलों में सभी कार्यवाहियों पर रोक लगा दी है। अदालत...
हम जब भी लघु पत्रिकाओं पर विचार करते हैं तो वर्तमान में मीडिया और पत्रकारिता की भूमिका हमारे सामने होती है। यह बताने की...
जयप्रकाश नारायण  बरपेटा के जुडिशल मजिस्ट्रेट ए चक्रवर्ती  ने जिग्नेश मेवानी के मामले में  कहा कि हमने बहुत कठिन संघर्ष के बाद लोकतंत्र हासिल किया...
सबा नक़वी आज की तारीख में पूरे भारत में विभिन्न स्थानों पर सघन हिन्दुत्व की लामबंदी क्यों की जा रही है? क्या हमने अचानक अपने...
जयप्रकाश नारायण  गुजरात के बड़गांम के विधायक जिग्नेश मेवानी को यह पता नहीं था, कि कोई प्रशिक्षित दस्ता उनके दरवाजे पर रात्रि के 11:30 बजे...