Thursday, February 2, 2023

ख़बर

आउट सोर्सिंग व ठेका प्रथा खत्म करने के लिए संगठित आंदोलन की जरूरत -विजय विद्रोही

 प्रयागराज। सफाई मजदूर एकता मंच संबद्ध ऐक्टू का जिला सम्मेलन बारूद खाना तेलियरगंज में 29 जनवरी को आयोजित किया गया। सम्मेलन को मुख्य वक्ता के बतौर कामरेड विजय विद्रोही ने संबोधित करते हुए कहा कि समान काम का समान...

जनमत

ग्राउन्ड रिपोर्ट

जोशीमठ संकट : नदियों, पहाड़ों और उसकी गोद में बसे मनुष्यों की पुकार की अनदेखी का नतीजा

कोई ढूंढता है रहे 'आपदा में अवसर' लेकिन जोशीमठ के नागरिक इस आपदा में भी हमें नदियों- पहाड़ों- वनस्पतियों के साथ, पशु- पक्षियों के साथ या कहें पृथ्वी पर उतरी समूची सृष्टि के साथ जीने का जो साहचर्य का रास्ता दिखा रहे हैं क्या हम उससे कोई सबक लेंगे या जानलेवा लुटेरे विकास का चश्मा जो स्क्रीनों ने हमारी आंखों को पहना दिया है वही लगाए विकास- विकास चिल्लाते हुए मारे जाएंगे.

मल्टीमीडिया

साहित्य-संस्कृति

हमारा समय और उसकी चुनौतियां

समय एक प्रवाहमान धारा है फिर भी उसके अलग अलग खंड किये जाते हैं ताकि उसे पहचाना जा सके। इसके लिए उसकी विशेषता को...

प्रतिरोध के बिना कोई कविता समकालीन नहीं हो सकती : डॉ. राकेश शर्मा

सातवें गोरख स्मृति आयोजन में कविताओं और गीतों का पाठ पटना। ‘‘जो कविता सत्ता और व्यवस्था से तथा अंधेरे से समझौता करके चलती है, वह प्रतिरोध...

संगम नगरी में ‘ सिरजन ’

माही  बच्चों के समाजीकरण में तमाम संगठनों, संस्थानों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। यूं तो ये जिम्मा स्कूल नामक शैक्षणिक संस्थाओं का सबसे अधिक माना...

आउट सोर्सिंग व ठेका प्रथा खत्म करने के लिए संगठित आंदोलन की जरूरत -विजय विद्रोही

 प्रयागराज। सफाई मजदूर एकता मंच संबद्ध ऐक्टू का जिला सम्मेलन बारूद खाना तेलियरगंज में 29 जनवरी को आयोजित किया गया। सम्मेलन को मुख्य वक्ता...

“ मन के बाग में आजादी के फूलों के कवि हैं गोरख पाण्डेय ”

गिरिडीह (झारखंड)। जनकवि गोरख पांडेय की स्मृति में 29 जनवरी को रमा कॉम्प्लेक्स, मकतपुर, गिरिडीह के स्मार्ट ड्रीम एकेडमी में काव्यपाठ सह परिचर्चा का...

गोरख स्मृति दिवस की पूर्व संध्या पर हैदराबाद विश्वविद्यालय में कार्यक्रम

कल 28 जनवरी गोरख स्मृति दिवस की पूर्व संध्या पर हैदराबाद विश्वविद्यालय में गोरख को उनकी कविताओं एवं गीतों के माध्यम से याद किया...

रमेश ऋतंभर की कविताओं में सामूहिकता की भावना शिद्दत से अभिव्यक्त होती है

पंकज चौधरी समकालीन हिन्दी कविता में दो तरह की कविताएँ अधिक प्रामाणिक और विश्वसनीय कही जा सकती हैं। एक तो वे कविताएँ, जिन्हें लिखने वाले...

फूल और उम्मीद के कवि हैं गोरख पाण्डेय

29 जनवरी गोरख पांडेय का स्मृति दिवस है। यह उनकी 34 वीं पुण्यतिथि है। उनका जन्म 1945 (पंडित के मुंडेरवा, जिला देवरिया, उत्तर प्रदेश)...

जोशीमठ संकट : नदियों, पहाड़ों और उसकी गोद में बसे मनुष्यों की पुकार की अनदेखी का नतीजा

कोई ढूंढता है रहे 'आपदा में अवसर' लेकिन जोशीमठ के नागरिक इस आपदा में भी हमें नदियों- पहाड़ों- वनस्पतियों के साथ, पशु- पक्षियों के साथ या कहें पृथ्वी पर उतरी समूची सृष्टि के साथ जीने का जो साहचर्य का रास्ता दिखा रहे हैं क्या हम उससे कोई सबक लेंगे या जानलेवा लुटेरे विकास का चश्मा जो स्क्रीनों ने हमारी आंखों को पहना दिया है वही लगाए विकास- विकास चिल्लाते हुए मारे जाएंगे.

बकाए वेतन भुगतान और परमानेंट की मांग को लेकर उत्तर प्रदेश आशा वर्कर यूनियन ने प्रदर्शन किया

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश आशा वर्कर यूनियन संबद्ध ऐक्टू ने वर्ष 2001 की अवशेष राशि के साथ इस वर्ष 2022 की अब तक की आशा व...

ब्राजील में लूला की जीत के मायने

जयप्रकाश नारायण  लैटिन अमेरिका के सबसे बड़े मुल्क ब्राजील में एक जनवरी को राष्ट्रपति के रूप में लूला डिसिल्वा ने शपथ ली। उनकी विजय  सैन्य...

नेताजी सुभाष चंद्र बोस और हिन्दूवादी दुष्प्रचार

जयप्रकाश नारायण बात 1984 के सितंबर की है। इंडियन पीपुल्स फ्रंट का दूसरा राष्ट्रीय सम्मेलन कोलकाता में होना तय हुआ था। सम्मेलन की तैयारी चल...

“ सुभाष चंद्र बोस और आज़ाद हिंद फ़ौज ”  पुस्तक का लोकार्पण

दिल्ली। आईटीओ स्थित सुरजीत भवन सभागार में 23 जनवरी की शाम सुभाषचंद्र बोस की 126वीं जयंती के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में अशोक...

संकट में जोशीमठ

आधा महीना से अधिक बीत चुका, जबकि जोशीमठ का संकट पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बना हुआ है. देश दुनिया के पत्रकारों का...

श्याम अविनाश की कविता: अदृश्य से जन्मता है दृश्य

आनंद बहादुर   ...दूर नीम का एक पेड़ भींग रहा है या नहीं दूर से दिखता नहीं है किसी का भींगना... मांदल की आवाज के आदिम...
समय एक प्रवाहमान धारा है फिर भी उसके अलग अलग खंड किये जाते हैं ताकि उसे पहचाना जा सके। इसके लिए उसकी विशेषता को...
जयप्रकाश नारायण बात 1984 के सितंबर की है। इंडियन पीपुल्स फ्रंट का दूसरा राष्ट्रीय सम्मेलन कोलकाता में होना तय हुआ था। सम्मेलन की तैयारी चल...
जयप्रकाश नारायण  इंडोनेशिया के बाली द्वीप पर  15-16 नवम्बर 2022 को जी 20 देशों की एक समिट यानी बैठक हुई। चीन, अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, कनाडा...
जयप्रकाश नारायण  लगभग  ग्यारह महीने पहले मोदी ने एकतरफा घोषणा करके तीन कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया। कानूनों की वापसी की घोषणा...
जयप्रकाश नारायण  दो-तीन दिन से यह खबर प्राथमिकता में चल रही है, कि बनारस में एक महीने तक तमिल संस्कृति की विशेषताओं को रेखांकित करता...
जयप्रकाश नारायण  हर घर तिरंगा अभियान अपने चरम पर है। लायल्टी प्रर्दशित करने के लिए अभियान में नौकरशाही से लेकर उद्योग जगत तक उतर चुका...