Author : समकालीन जनमत

674 Posts - 1 Comments
स्मृति

कौमी एकता और आम अवाम के जनतांत्रिक संघर्षों की आवाज थे राहत इंदौरी : जसम

समकालीन जनमत
जन संस्कृति मंच ने सुविख्यात शायर राहत इंदौरी की कोरोना संक्रमण के दौरान हृदयाघात से हुई मौत को देश की साझी संस्कृति और हिंदुस्तानी साहित्य...
खबर

किसान नेता पुरुषोत्तम शर्मा को जांच के नाम पर 8 घण्टे बैठाना निंदनीय : अखिल भारतीय किसान महासभा 

अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय महासचिव कॉमरेड राजाराम सिंह ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा संगठन के राष्ट्रीय सचिव व विप्लवी किसान संदेश...
खबर

मजदूर विरोधी नीतियों और निजीकरण के खिलाफ एक्टू समेत कई ट्रेड यूनियन का जंतर मंतर पर प्रदर्शन

समकालीन जनमत
नई दिल्ली।  ऐक्टू समेत देश की अन्य ट्रेड यूनियन संगठनों व फेडरेशनों ने आज मोदी सरकार की मजदूर-विरोधी, जन-विरोधी और विभाजनकारी नीतियों के साथ-साथ, तेजी...
भाषा

उर्दू की क्लास : “क़मर” और “कमर” में फ़र्क़

समकालीन जनमत
( छापाखाने के आविष्कार के बाद तमाम चीज़ें  काग़ज़ के पन्नों में छपकर किताब की शक्ल में आने से भाषा एक नयी चाल में ढलने...
देसवा

फूलमनहा में फूल का जनाज़ा

समकालीन जनमत
( पत्रकार मनोज कुमार के साप्ताहिक कॉलम ‘देसवा’ की छठवीं क़िस्त  ) तीन वर्ष पहले की बात है। मैं जब महरजगंज जिले के बृजमनगंज क्षेत्र...
जेरे बहस

शोर ने गंभीर पत्रकारिता की जगह ले ली है और यह देश के जनतंत्र पर सबसे बड़ा खतरा है! : बी.बी.सी. पत्रकार प्रियंका दुबे

समकालीन जनमत
कोरस के फेसबुक लाइव में रविवार 26 जुलाई को बीबीसी पत्रकार प्रियंका दुबे से मीनल ने बातचीत की l प्रियंका हिंदुस्तान टाइम्स, तहलका और कारवां...
खबर

बस्तर में ईसाई समुदाय पर हिंसा पर एआईपीएफ ने रिपोर्ट जारी की, पुलिस महानिरीक्षक को ज्ञापन दिया

समकालीन जनमत
दुर्ग (छत्तीसगढ़)। आल इंडिया पीपुल्स फोरम, छत्तीसगढ़ ने बस्तर संभाग में ईसाई समुदाय के ऊपर हो रही हिंसा और प्रताड़ना की जांच कर दोषियों को...
जनमत

कैंपस में आइसा के होने का निहितार्थ

समकालीन जनमत
अंकित पाठक (वाम छात्र संगठन ‘आइसा’ 9 अगस्त को अपनी स्थापना के तीस वर्ष पूरा कर रहा है। इस मौके पर अंकित पाठक ने आइसा...
कहानी

दास्तानगोई परंपरा और स्त्रियों की भूमिका

समकालीन जनमत
बीते रविवार ‘कोरस’ के फेसबुक लाइव ‘स्त्री संघर्ष का कोरस’ में ‘दास्तानगोई परंपरा और स्त्रियों की भूमिका‘ विषय पर कोरस की साथी समता ने सुप्रसिद्ध...
शख्सियत

वीरेन डंगवाल की कविता: बृजराज

समकालीन जनमत
(आज वीरेन डंगवाल का जन्मदिन है। वह हमारे साथ होते तो आज 73 बरस के होते। उनके जन्मदिन पर समकालीन जनमत विविध विधाओं में सामग्री...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy