Author : पुरुषोत्तम शर्मा

19 Posts - 0 Comments
लेखक अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय सचिव हैं
जनमत

हुड़किया बौल पहाड़ की संस्कृति नहीं, बेगार प्रथा का अवशेष है

आजकल कई लोग पहाड़ में पहले होने वाले हुड़किया बौल की नकल करते उसे पहाड़ की संस्कृति के रूप में प्रचारित करते रहते हैं। हुड़किया बौल...
जनमत

नीतीश कुमार जितने संवेदनशील रिश्तेदारों के लिए हैं, क्या उतने ही संवेदनशील जनता के प्रति भी हैं ?

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोना संकट में राज्य की जनता को बचाने के लिए तो कोई अतिरिक्त प्रयास नहीं किये हैं, पर अपने...
जेरे बहस

क्लीनिकल ट्रायल पूरा हुए बिना वैक्सीन को 15 अगस्त तक बाजार में लाने की घोषणा का मकसद क्या है ?

आईसीएमआर व भारत बायोटेक द्वारा तैयार की जा रही कोरोना वैक्सीन को 15 अगस्त तक बाजार में लाने की घोषणा की जा चुकी है जबकि...
जेरे बहस

मोदी सरकार के 6 साल- देश के लिए बड़ी विपदा साबित हुई है यह सरकार

कोरोना संकट से निपटने में मोदी सरकार पूरी तरह फेल साबित हुई है...
जेरे बहस

आर्थिक पैकेज-लघु व मध्यम उद्योगों को शीर्षासन कराती मोदी सरकार

भारत एक गहरे आथिक संकट के जाल में फंसा है. यह आर्थिक संकट का जाल कोरोना की ही देन नहीं है, बल्कि कोरोना पूर्व का...
जनमत

भारत में फासीवादी राज्य की तैयार होती जमीन

भारत में संसदीय लोकतंत्र के खात्मे और फासीवादी राज्य की जमीन लगभग तैयार है। कोरोना संकट की आड़ में आरएसएस-भाजपा अपने फासीवादी कारपोरेट हिंदू राष्ट्र...
जेरे बहस

भारत में कोरोना से कैसा युद्ध- अस्पताल साधनहीन, जनता बेसहाय

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन के शुक्रवार को दिए बयान के अनुसार भारत ने 8 जनवरी से ही कोरोना के खिलाफ तैयारी शुरू कर दी...
जेरे बहस

जम्मू कश्मीर से आर्टिकल “370/2-3” व “35 ए” का हटना संघीय ढाँचे पर हमला

तबाही का यह जश्न तुम्हें मुबारक, हम तो न्याय और लोकतंत्र के लिए लड़ेंगे ! केंद्र की मोदी सरकार ने 5 अगस्त 2019 को जम्मू...
साहित्य-संस्कृति

एका : किसान आन्दोलन और आजादी की लड़ाई में वर्ग हितों की टकराहट का दस्तावेज

1920 से 1928 के बीच अवध के दो महान किसान नेताओं बाबा रामचंद्र और मदारी पासी के नेतृत्व में चले किसान संघर्षों के बारे में...
जनमत

बिहार में जल संकट और उसके समाधान के रास्ते

ज्ञात आकड़ों के अनुसार बिहार राज्‍य में लगभग 79.46 लाख हेक्‍टेयर भूमि कृषि योग्‍य है जिसमें से केवल 56.03 लाख हेक्‍टेयर भूमि पर ही खेती...