निराला की कविताएँ अपने समय के अंधेरे को पहचानने में हमारी मदद करती हैं: प्रो. विजय बहादुर सिंह

विवेक निराला    निराला की 57 वीं पुण्यतिथि पर आयोजित ‘छायावाद और निराला :कुछ पुनर्विचार’ विषय पर ‘निराला के निमित्त’ की ओर से आयोजित गोष्ठी में मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए प्रसिद्ध आलोचक प्रो. विजय बहादुर सिंह ने छायावाद की प्रासंगिकता पर कई प्रश्नों के साथ विचार करने का प्रस्ताव रखा। उन्होंने रेखांकित किया कि छायावाद आधुनिक भारत का सांस्कृतिक स्वप्न है। ‘अस्मिता की तलाश’ पहली बार छायावादी कविता में ही दिखाई देती है। छायावाद ने ‘मनुष्यता’ को सबसे बड़ी अस्मिता के रूप में रेखांकित किया। छायावाद के…

Read More

प्रेमचंद ने राष्ट्रवाद की अवधारणा के फासीवादी चरित्र को काफी पहले ही देख लिया था : प्रो. रविभूषण

प्रेमचंद ने आज से काफी पहले ही आवारा पूंजी के ग्लोबल चरित्र और उसके साम्राज्यवादी गठजोड़ की शिनाख्त कर ली थी . उन्होंने राष्ट्रवाद की अवधारणा के फासीवादी चरित्र को काफी पहले ही देख लिया था.

Read More

राजेन्द्र कुमार : जैसा मैंने उन्हें देखा

उनका अलंकरण मुश्किल है. उनके बारे में अतिशयोक्ति संभव नहीं. ध्यान से देखें तो उन्होंने अपने जीवन और अपनी रचना में कुछ भी अतिरिक्त, कुछ भी surplus बचाकर रखा नहीं है. जो कुछ भी अर्जित रहा, वह इतने इतने रूपों में बंटता रहा कि कोई चाह कर भी उसका लेखा-जोखा नहीं तैयार कर सकता. सामाजिक सक्रियताओं, लेखकीय प्रतिबद्धताओं, अध्यापकीय और पारिवारिक जिम्मेदारियों के दरम्यान उनका सारा अर्जन मानों खुशबू की तरह बिखर गया है.

Read More

भारत बंद : भाकपा माले का लखनऊ, वाराणसी, इलाहाबाद, गोरखपुर सहित कई स्थानों पर जोरदार प्रदर्शन

लखनऊ। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) ने एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के जरिये उसे निष्प्रभावी करने के खिलाफ दो अप्रैल को लखनऊ,  इलाहबाद, वाराणसी, गोरखपुर सहित कई स्थानों पर जोरदार प्रदर्शन किया. भाकपा (माले) की लखनऊ इकाई  ने पार्टी के जिला प्रभारी का0 रमेश सिंह सेंगर के नेतृत्व में लाल झंडे और बैनर के साथ लालकुआं कार्यालय से मार्च शुरू किया। मार्च हुसैनगंज चौराहा,बर्लिंग्टन होते हुए विधान सभा से होकर हजरतगंज चौराहा स्थित अम्बेडकर प्रतिमा पर पहुंचकर वहां मौजूद दलित  संगठनों के साथ एकजुटता व्यक्त की और जमकर  नारेबाजी की।…

Read More

उन्नाव में दलित छात्रा की जलाकर हत्या के विरोध में आइसा ने इलाहबाद में निकाला जुलूस, फूंका योगी सरकार का पुतला

इलाहबाद. ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा ) से जुड़े छात्रों ने उन्नाव में दलित छात्रा को जलाकर मार देने की घटना के विरोध में शनिवार को जुलूस निकालकर बालसन चौराहे पर प्रदर्शन किया और योगी सरकार का पुतला फूंका। प्रदर्शन के दौरान छात्र -छात्राएं ‘ दलित छात्रा की हत्या क्यों हुई योगी सरकार जवाब दो ’, ‘ दलितों पर हमला नहीं सहेंगे ’, ‘  दलितों पर हमला करने वाली योगी सरकार मुर्दाबाद ’, ‘  मोनी राबिया दिलीप सहित प्रदेश में बढ़ रहे दलितों पर हमला नहीं सहेंगे ’ का नारे लगा रहे…

Read More