Wednesday, February 8, 2023
Homeख़बरइलाहाबाद में युवाओं के प्रदर्शन में गूंजा नारा-“योगी बाबा वापस जाओ, जाकर...

इलाहाबाद में युवाओं के प्रदर्शन में गूंजा नारा-“योगी बाबा वापस जाओ, जाकर अपना मठ संभालो”

इलाहाबाद. प्राथमिक शिक्षकों के 69000 पदों पर भर्ती के लिए हुई परीक्षा का पेपर आउट होने के खिलाफ आन्दोलन कर रहे छात्रों-युवाओं ने गुरुवार को इलाहाबाद आये मुख्यमंत्री से मिलने की कोशिश की लेकिन छात्रों-युवाओं के जुलूस को छात्र संघ भवन पर रोक दिया गया. इस दौरान छात्रों-युवाओं की पुलिस व अधिकारीयों से तीखी तकरार हुई. इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ के उपाध्यक्ष अखिलेश यादव से दो पुलिस अधिकारियों ने हाथापाई की. छात्रों के उग्र विरोध पर दोनों अधिकारीयों को माफ़ी मंगनी पड़ी. इस दौरान “योगी गो बैक”, “योगी बाबा वापस जाओ, जाकर अपना मठ संभालो”, “योगी सरकार मुर्दाबाद ” के नारे गूंजे.

प्राथमिक शिक्षकों के 69000 पदों पर भर्ती के लिए हुई परीक्षा का पेपर परीक्षा के पहले ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। कई शहरों में पेपर बेचा-ख़रीदा भी गया। जब प्रतियोगी छात्रों को ये पता चला तो उसी दिन वो परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर धरना देने बैठ गए। प्रतियोगी छात्र लगातार प्रदर्शन कर परीक्षा रद कर फिर से परीक्षा कराने और इस मामले की जाँच कराने की मांग कर रहे हैं लेकिन लेकिन उनकी मांगों को अनसुना किया जा रहा है. पेपर लीक करने में संलिप्त कुछ लोगों को पुलिस ने अरेस्ट किया है बावजूद इसके सरकार परीक्षा को रद्द करने के मूड में नहीं दिख रही है.

परीक्षा रद्द करने की मांग को लेकर छात्रों-युवाओं ने 6 और 7 जनवरी को भी परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन और डीएम कार्यालय तक मार्च किया था. सात जनवरी को 69000 शिक्षक भर्ती परीक्षा का पेपर आउट होने के खिलाफ छात्रों ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन करने के बाद वहां से बैंक रोड़, जिलाधिकारी कार्यालय होते हुए आजाद पार्क तक जुलूस निकाला था.

गुरुवार को छात्रों ने इलाहाबाद आ रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ योगी से मिलने की योजना बनाई थी. परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय से जुलूस निकालकर छात्र जिलाधिकारी कार्यालय गये और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वार्ता कराने लिए समय की मांग की लेकिन जिलाधिकारी नहीं मिले।
इस दौरान छात्रों ने “योगी गो बैक”, “योगी बाबा वापस जाओ, जाकर अपना मठ संभालो”, “योगी सरकार मुर्दाबाद ” नारे लगाये.

छात्रों का जुलूस जब जिलाधिकारी कार्यालय से निकलकर आगे बढ़ा तो पुलिस ने रोकने की कोशिश की.  इस दौरान जब जुलूस छात्रसंघ भवन गेट के पास पहुंचा तो एसओ और सीओ ने छात्रसंघ उपाध्यक्ष अखिलेश यादव से हाथापाई की हालाँकि बाद में छात्रों के भारी दबाव और आक्रोश के बाद उन्होंने उपाध्यक्ष से माफ़ी मांगी। तब मौके पर जिलाधिकारी पहुंचकर आंदोलन के नेताओं से बात की और कल मुख्यमंत्री से मिलवाने का आश्वासन दिया. छात्र पुनः परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर आ गए.

आंदोलन का नेतृत्व करते हुए सुनील मौर्य ने कहा कि 69 हजार शिक्षक भर्ती परीक्षा में व्यापक पैमाने पर पर्चा आउट हुआ. परीक्षा 11:00 बजे से शुरू हुई लेकिन छात्रों के व्हाट्सएप पर 11:00 बजे से पहले ही आंसर की जारी हो गया. छात्रों ने कहा कि पेपर आउट होने के बाद छात्रों का भविष्य बर्बाद हो रहा है लेकिन सरकार उस पर ध्यान नहीं दे रही है.

प्रदर्शन करने वालों में सुनील मौर्य, अनुराधा तिवारी, समरीन, कोमल,अलाउद्दीन ,सुनील यादव निरंजन देव,शैलेश पासवान, अजय वर्मा, अभिषेक पांडे, राकेश कुमार, सीएम सिंह विवेक यादव राकेश वर्मा , दिनेश यादव सामरीन अंजुम विपुल श्रीवास्तव राजेश कुमार मौर्य अजय वर्मा हेमंत यादव अनिल यादव इंतजार अली प्रमोद कुमार राजेश कुमार अनुराग शुक्ला अंकित मिश्रा अभिषेक पांडे अंशुमान सिंह जय प्रकाश समेत सैकड़ों छात्र प्रदर्शन में शामिल रहे.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments