समकालीन जनमत

Tag : लखनऊ

ख़बर

आइसा-लखनऊ के जिला सम्मेलन में बेरोज़गारी, शिक्षा के निजीकरण के खिलाफ संघर्ष का संकल्प

समकालीन जनमत
25 सदस्यीय जिला परिषद ने आदर्श शाही को जिला सचिव तथा प्राची मौर्य को जिलाध्यक्ष चुना लखनऊ। ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा)-लखनऊ का 5वां जिला...
ख़बर

रिहाई मंच ने आतंकवाद के नाम पर गिरफ्तारी पर उठाए सवाल, जांच की मांग

लखनऊ। रिहाई मंच ने लखनऊ में आतंकवाद के नाम पर गिरफ्तार मिनहाज, मसीरुद्दीन और शकील के परिजनों से मुलाकात के बाद इन गिरफ्तारियों पर सवाल...
ख़बर

शिक्षक भर्ती में आरक्षण घोटाले के ख़िलाफ़ डिप्टी सीएम आवास पर प्रदर्शन कर रहे नौजवानों पर लाठीचार्ज

समकालीन जनमत
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 69000 शिक्षक भर्ती में समुचित तरीके से आरक्षण लागू न करने के विरोध में पूरे घोषित आह्वान के तहत बुधवार की...
शख्सियत

स्मृति मंगलेश डबराल: ‘आवाज भी एक जगह है’

कौशल किशोर
साहित्य और विचार की संस्था लिखावट की ओर से ऑनलाइन गूगल मीट पर प्रसिद्ध कवि और गद्यकार मंगलेश डबराल की स्मृति में कार्यक्रम ‘आवाज़ भी...
ख़बर

महिला संगठनों ने भाई के अत्याचार से त्रस्त मीरा के गायब होने पर पुलिस पर उठाए सवाल

लखनऊ। महिला संगठनों ऐपवा , ऐडवा, महिला फेडरेशन, हमसफर, साझी दुनिया, आली ने लखनऊ के पवनपुरी कालोनी देवीखेड़ा आशियाना मे रहने वाली मीरा यादव को...
ये चिराग जल रहे हैं

नंदकुमार उप्रेती- महानगर में एक भोला-निष्कपट पहाड़ी

( वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक नवीन जोशी के प्रकाशित-अप्रकाशित संस्मरणों की  श्रृंखला ‘ये चिराग जल रहे हैं’ की  ग्यारहवीं  क़िस्त  में  प्रस्तुत  है  लखनऊ  महानगर...
ये चिराग जल रहे हैं शिक्षा

शुक्रिया, छंगा मास्साब, बहुत शुक्रिया!

नवीन जोशी
( वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक नवीन जोशी के प्रकाशित-अप्रकाशित संस्मरणों की  श्रृंखला ‘ये चिराग जल रहे हैं’ की  पांचवीं  क़िस्त  में  प्रस्तुत  है   नवीन   जोशी ...
ये चिराग जल रहे हैं

हाँ, गिर्दा, तुम्हारा होना एक दिन अवश्य सार्थक होगा

नवीन जोशी
वह बड़े सपने देखने वाला अनोखा रचनाकार था. अत्यन्त सहज, सरल और सुलभ इनसान. उसके सर्वाधिक लोकप्रिय गीतों में से एक है- ‘जैंता, एक दिन...
साहित्य-संस्कृति

कथाकार शिवमूर्ति के गांव में जुटे साहित्यकार, देश-गांव पर बातचीत, पुस्तकालय का उद्घाटन 

कौशल किशोर
शिवमूर्ति हमारे समय के महत्वपूर्ण कथाकार हैं। इनकी विशेषता है कि इन्होंने अपने कथा साहित्य में लोकतत्वों और लोकरंजन का अच्छा-खासा समावेश किया है। आज...
ख़बर

घंटाघर पर लहराता जनसमुद्र, संगवारी ने पेश किया सांस्कृतिक कार्यक्रम

कौशल किशोर
लखनऊ. इन दिनों लखनऊ का घंटाघर सुर्खियों में है। शाहीनबाग से सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में औरतों ने जिस धरने के शुरुआत की...
Fearlessly expressing peoples opinion

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy