Tag : country

साहित्य-संस्कृति

कथाकार शिवमूर्ति के गांव में जुटे साहित्यकार, देश-गांव पर बातचीत, पुस्तकालय का उद्घाटन 

कौशल किशोर
शिवमूर्ति हमारे समय के महत्वपूर्ण कथाकार हैं। इनकी विशेषता है कि इन्होंने अपने कथा साहित्य में लोकतत्वों और लोकरंजन का अच्छा-खासा समावेश किया है। आज...
ख़बर

बीएचयू के 51 शिक्षकों ने कहा : सीएए और एनआरसी देश की बहुलतावादी लोकतन्त्र की आत्मा के खिलाफ

समकालीन जनमत
वाराणसी. बीएचयू , आई आई टी बीएचयू और सम्बद्ध कॉलेजों के 51 अध्यापकों ने नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर को आजादी की लड़ाई...
ख़बर जनमत

‘ आपकी चिंता में पड़ोसी देश का हिंदू नहीं है, आपके निशाने पर इस देश का मुसलमान है ’

हिमांशु पंड्या
“सर, पाकिस्तान के अल्पसंख्यकों के बारे में भी कुछ लिख दीजिए.” मेरे एक दक्षिणपंथी रुख वाले पुराने विद्यार्थी ने लिखा. यही तर्क भाजपा कब से...
जनमत

नागरिकों से देश बनता है, नागरिकता छीनने वाली सरकार कौन होती है – कन्नन

पटना के गांधी संग्राहालय में नागरिक संवाद के आयेाजन में बोले कन्नन गोपीनाथन एनआरसी, नागरिकता संशोधन विधयेक व डिटेंशन कैंपों की हालत पर एआईपीएफ के...
जनमत शिक्षा

नई शिक्षा नीति देश को बेचने और तोड़ने का बहाना हो गई है : प्रो. अनिल सद्गोपाल

सुधीर सुमन
आठवां कुबेर दत्त स्मृति व्याख्यान, कुबेर दत्त की पुस्तक ‘ समय जुलाहा ’ का लोकार्पण नई दिल्ली. ‘नई शिक्षा नीति देश को बेचने और तोड़ने...
ज़ेर-ए-बहस

हिमा दास: हम जो नहीं देखते हैं

समकालीन जनमत
नित्यानंद गायेन हिमा दास ने इतिहास रचा, 5 दिनों में हिमा दास ने जीता चौथा गोल्ड मेडल. यह वाक्य मेरा नहीं है. अख़बार की हेडलाइन...
जनमत

संविधान बचेगा, तभी देश भी बचेगा

रवि भूषण
25 नवम्बर 1949 को अम्बेडकर ने संविधान सभा में अन्तिम बार अपना भाषण, समापन भाषण दिया था जिसमें उन्होंने कई ऐसी बातें कही थीं, जो...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy