Author : नवीन जोशी

14 Posts - 0 Comments
नवीन जोशी ने ‘स्वतंत्र भारत’, ‘नवभारत टाइम्स’, ‘दैनिक जागरण’, ‘हिंदुस्तान’ और ‘दैनिक भास्कर’ अखबार में करीब चालीस साल तक पत्रकारिता की. इसके अलावा 1980 के दशक में अपने समकालीन कुमाउँनी युवाओं के साथ मिलकर बेहद सक्रियता वाली सांस्कृतिक संस्था 'आंखर' को भी चलाया . ‘हिंदुस्तान ’ के लखनऊ समेत उत्तर प्रदेश के सभी संस्करणों के कार्यकारी सम्पादक पद से सेवानिवृत्त होने के बाद वे स्वतंत्र रूप से लेखन और पत्रकारिता कर रहे हैं. उनके दो कहानी संग्रहों और दो चर्चित उपन्यासों- ‘दावानल’ और ‘टिकटशुदा रुक्का’ समेत छह पुस्तकें प्रकाशित हैं.
ये चिराग जल रहे हैं

वीरेनदा : कविता और जीवन में सार्थक भरभण्ड

( वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक नवीन जोशी के प्रकाशित-अप्रकाशित संस्मरणों की  शृंखला ये चिराग जल रहे हैं   की  चौदहवीं  क़िस्त  में  प्रस्तुत  है   अनूठे  हिंदी ...
ये चिराग जल रहे हैं

हुसेन, पहाड़ और सिनेमा से प्यार करने वाला चितेरा

नवीन जोशी
( वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक नवीन जोशी के प्रकाशित-अप्रकाशित संस्मरणों की  शृंखला ये चिराग जल रहे हैं’ की  तेरहवीं   क़िस्त  में  प्रस्तुत  है   लखनऊ  के ...
ये चिराग जल रहे हैं

जोहारदा की स्मृति और यह माफ़ीनामा

( वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक नवीन जोशी के प्रकाशित-अप्रकाशित संस्मरणों की  श्रृंखला ‘ये चिराग जल रहे हैं’ की  बारहवीं   क़िस्त  में  प्रस्तुत  है  नवीन  जी...
ये चिराग जल रहे हैं

नंदकुमार उप्रेती- महानगर में एक भोला-निष्कपट पहाड़ी

( वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक नवीन जोशी के प्रकाशित-अप्रकाशित संस्मरणों की  श्रृंखला ‘ये चिराग जल रहे हैं’ की  ग्यारहवीं  क़िस्त  में  प्रस्तुत  है  लखनऊ  महानगर...
ये चिराग जल रहे हैं

राजेंद्र माथुर :  हिंदी पत्रकारिता के आकाश में चमचमाता सितारा

नवीन जोशी
( वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक नवीन जोशी के प्रकाशित-अप्रकाशित संस्मरणों की  श्रृंखला ‘ये चिराग जल रहे हैं’ की  दसवीं   क़िस्त  में  प्रस्तुत  है  प्रखर  हिंदी ...
ये चिराग जल रहे हैं

मोहिनी दी उर्फ माता महेश गिरि

नवीन जोशी
( वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक नवीन जोशी के प्रकाशित-अप्रकाशित संस्मरणों की  श्रृंखला ‘ये चिराग जल रहे हैं’ की  नवीं क़िस्त  में  प्रस्तुत  है  उनके गाँव ...
ये चिराग जल रहे हैं

बाबू और जामुन का यह पेड़

नवीन जोशी
( वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक नवीन जोशी के प्रकाशित-अप्रकाशित संस्मरणों की  श्रृंखला ‘ये चिराग जल रहे हैं’ की  आठवीं  क़िस्त  में  प्रस्तुत  है  प्रकृति  और...
ये चिराग जल रहे हैं

सल्लाम वाले कुम, केशव अनुरागी

नवीन जोशी
( वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक नवीन जोशी के प्रकाशित-अप्रकाशित संस्मरणों की  श्रृंखला ‘ये चिराग जल रहे हैं’ की  सातवीं  क़िस्त  में  प्रस्तुत  है   ‘ढोल  सागर...
ये चिराग जल रहे हैं

जीत जरधारी- टिहरी के प्रजामण्डल आंदोलन से हिंदी रंगमंच तक

नवीन जोशी
( वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक नवीन जोशी के प्रकाशित-अप्रकाशित संस्मरणों की  श्रृंखला ‘ये चिराग जल रहे हैं’ की  छठी क़िस्त  में  प्रस्तुत  है   टिहरी के...
ये चिराग जल रहे हैं शिक्षा

शुक्रिया, छंगा मास्साब, बहुत शुक्रिया!

नवीन जोशी
( वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक नवीन जोशी के प्रकाशित-अप्रकाशित संस्मरणों की  श्रृंखला ‘ये चिराग जल रहे हैं’ की  पांचवीं  क़िस्त  में  प्रस्तुत  है   नवीन   जोशी ...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy