Author : सुशील मानव

31 Posts - 0 Comments
ख़बर

कोरोना के डर से बढती ख़ुदकुशी की घटनाएं

सुशील मानव
कोरोना वैश्विक महामारी ने तीन तरफ से हमला कर रखा है। एक ओर जहाँ उसने पूरे विश्व को संक्रमित करके बीमार बना रखा है तो...
ख़बर

भारत में कोरोना टेस्टिंग कम क्यों हो रही है

सुशील मानव
कोविड-19 महामारी की मार से अमेरिका, इटली, स्पेन और चीन जैसी महाशक्तियां पस्त हैं। भारत में भी ये तेजी से फैल रहा है बावजूद उसके...
ख़बर

कीड़े मकोड़ों की तरह किया गया मजदूरों पर डिसइंफेक्ट दवा का छिड़काव

सुशील मानव
भूखे प्यासे दिल्ली एनसीआर से पैदल आए ये मजदूर नहीं कीड़े मकोड़े हैं, ये बैक्टीरिया और वायरस की वाहक मक्खियाँ और मच्छर हैं। कम से...
ख़बर

सरकार पर है लॉकडाउन के बाद पैदल ही घर को निकले प्रवासी मजदूरों की मौत का जिम्मा

सुशील मानव
लॉकडाउन के बाद मुंबई और तेलंगाना जैसे सुदूर के शहर से अपने घर परिवार के लिए पैदल ही सैकड़ों किलोमीटर की दूरी पैदल नापने सड़कों...
ख़बर

विदेशों में फँसे लोगों को एयरलिफ्ट किया लेकिन देश के प्रवासी मजदूरों के लिए कोई व्यवस्था नहीं

सुशील मानव
तीन दिन से इंदिरापुरम, उत्तराखंड में फँसे सैकड़ों मजदूर रोते हुए कहते हैं हम दो दिन से भूखे हैं हमारे पास न खाने को कोई...
ख़बर

दिल्ली : सी.ए.ए. समर्थकों का शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर हमला

सुशील मानव
 नई दिल्ली. सीलमपुर दिल्ली के मौजपुर क्षेत्र में 23 फरवरी की रात सीएए-एनआरसी-एनपीआर के खिलाफ़ प्रदर्शन कर रहे लोगों से भाजपा नेता कपिल मिश्रा की...
ख़बर

मोदी सरकार की सीएए समर्थन रैलियों का ट्रेडमार्क नारा- ‘गोली मारो …’ और उसने गोली मार दी

सुशील मानव
   नई दिल्ली. गांधी शहादत दिवस पर 30 जनवरी को छात्र जामिया से राजघाट तक तक शांति मार्च निकाल रहे थे। शांति मार्च जब जामिया...
ख़बर फ़ील्ड रिपोर्टिंग

‘ हम मुल्क़ बचाने निकली हैं , अब हम पीछे नहीं हटेंगी ’

सुशील मानव
निजामुद्दीन में सीएए -एनआरसी विरोधी धरने के ग्राउंड रिपोर्ट नई दिल्ली. भारी पुलिस और अर्द्धसैनिक बल के बीच बरसते आसमान के नीचे तीन दिन से...
ख़बर जनमत

बुज़ुर्गों को पेंशन देने के पैसे नहीं और एनआरसी पर लाखों करोड़ खर्च रही सरकार

सुशील मानव
21 जनवरी को दिल्ली के 20 से अधिक संगठनों मिलकर जंतर मंतर पर पेंशन परिषद के बैनर तले पेंशन के मुद्दे पर ‘पेंशन नहीं तो...
ख़बर

‘ विरोध करना मना है ‘

सुशील मानव
कृपया ध्यान दें, ‘देश के मरम्मत का कार्य चल रहा है, अतः लोकतंत्र का मार्ग बाधित है ’ या फिर ‘सावधान, ख़तरनाक, ख़तरा, पुलिस और...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy