समकालीन जनमत

Tag : जनवादी लेखक संघ

ख़बर

‘ डॉ.नीलम पर असभ्य हिंसक व्यवहार निंदनीय, दंडनीय और अमानवीय  ’

समकालीन जनमत
नई दिल्ली।  लक्ष्मीबाई कॉलेज (विश्वविद्यालय दिल्ली) हिन्दी विभाग की विभागाध्यक्ष रंजीत कौर द्वारा एसोसिएट प्रोफेसर डॉ.नीलम को  विभागीय बैठक में असभ्य हिंसक व्यवहार करने और...
जनमत

उत्तर प्रदेश में असंवैधानिक गतिविधियों, मनुवादी हिंसा और हत्याओं की बाढ़ : लेखक-सांस्कृतिक संगठन

समकालीन जनमत
हाथरस गैंगरेप और हत्याकांड पर सामाजिक-सांस्कृतिक संगठनों का संयुक्त बयान नई दिल्ली। साहित्यिक, सामाजिक और सांस्कृतिक संगठनों ने  30 सितम्बर को ऑनलाइन बैठक कर हाथरस...
जनमत

प्रशांत भूषण के समर्थन में आए लेखक संगठन , प्रोफ़ेसरों के उत्पीड़न के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाई

समकालीन जनमत
जन संस्कृति मंच, प्रगतिशील लेखक संघ, दलित लेखक संघ, प्रतिरोध का सिनेमा, इप्टा, संगवारी, न्यू सोशलिस्ट इनिशिएटिव और जनवादी लेखक संघ ने प्रशांत भूषण को...
ख़बर

सांस्कृतिक-सामाजिक संगठनों ने कहा : मानवाधिकार-कर्मियों और लेखकों-पत्रकारों की गिरफ्तारियों पर रोक लगे

समकालीन जनमत
 जन संस्कृति मंच, दलित लेखक संघ, प्रगतिशील लेखक संघ, न्यू सोशलिस्ट इनिशिएटिव, प्रतिरोध का सिनेमा, संगवारी, जन नाट्य मंच और जनवादी लेखक संघ ने असहमति...
स्मृति

शशिभूषण द्विवेदी का जाना एक बड़ी संभावना का असमय अंत है : जनवादी लेखक संघ

शशिभूषण जी अत्यंत प्रतिभाशाली और संभावनाशाली कहानीकार थे. उनकी ‘ब्रह्मह्त्या’, ‘एक बूढ़े की मौत’, ‘कहीं कुछ नहीं’, ‘खिड़की’, ‘शिल्पहीन’ जैसी कई कहानियां खूब पढ़ी और...
ख़बर

प्रगतिशील आन्दोलन के इतिहास-पुरुषों में से एक थे खगेन्द्र ठाकुर : जलेस

नई दिल्ली. जनवादी लेखक संघ ने महत्त्वपूर्ण आलोचक और प्रतिबद्ध वामपंथी कार्यकर्त्ता कॉमरेड खगेन्द्र ठाकुर के निधन को शोक-संतप्त कर देने वाली ख़बर बट्टे हुए...
ख़बर

लेखक संगठनों ने की सामाजिक कार्यकर्ताओं की रिहाई की मांग

कौशल किशोर
लखनऊ, 29 दिसम्बर 2019 केन्द्र की सरकार द्वारा लाये गये नागरिक संशोधन कानून और प्रस्तावित एनआरसी के विरुद्ध देश के लोकतांत्रिक, अमनपसन्द, देशभक्त और संविधान...
ख़बर

लेखक संगठनों का सीएए और एनआरसी के खिलाफ राष्ट्रीय प्रतिवाद में भागीदारी का आह्वान

कौशल किशोर
प्रलेस, जलेस, जसम इप्टा की उत्तर प्रदेश इकाइयों ने नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ देश भर के लोकतांत्रिक, अमनपसंद और संविधान में आस्था...
जनमत

‘ बुद्धिजीवी और कलाकार की खाल ओढ़े हत्या-सत्ता-समर्थकों की हम भर्त्सना करते हैं ’

चार लेखक संगठनों का साझा बयान लेखक-कलाकार हमेशा से सत्ता के विरोध में रहे हैं, लेकिन मोदीराज में सत्ता के विरोध का विरोध एक स्थायी...
साहित्य-संस्कृति

आजमगढ़ में समकालीन कथा साहित्य पर विमर्श, छह कहानियों का पाठ

आजमगढ़. गाथांतर, पुरवाई पत्रिका तथा जनवादी लेखक संघ के तत्वाधान दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन आज़मगढ़ में विज़डम इंटरनेशनल स्कूल ( गोरखपुर रोड ,...
Fearlessly expressing peoples opinion

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy