खबर

चिन्मयानंद की गिरफ़्तारी की मांग को लेकर लखनऊ में हुआ धरना

लखनऊ, 14 सितंबर। राजधानी लखनऊ में बलात्कार आरोपी चिन्मयानंद को तत्काल गिरफ़्तार कर उनकी सम्पत्ति को जप्त करने की मांग को लेकर शहीद स्मारक पर सोशलिस्ट पार्टी (इंडिया), रिहाई मंच, इंसानी बिरादरी, पिछड़ा महासभा, लोक राजनीति मंच और अन्य संगठनों ने धरना दिया.

सभी ने एक स्वर में तबरेज अंसारी को इंसाफ देने की मांग करते हुए कहा कि पहले सांप्रदायिक जहनियत ने उसकी हत्या की और अब सांप्रदायिक पुलिस उसके इंसाफ का गला घोंटने पर उतारू है।

शहीद स्मारक पर प्रदर्शनकारी बलात्कार आरोपी चिन्मयानंद को गिरफ़्तार करो, तबरेज अंसारी को न्याय दो, सेंगर- चिन्मयानंद जैसे बलात्कार आरोपियों की शरण स्थली भाजपा लिखी तख्तियां के साथ विरोध दर्ज कराया।

वक्ताओं ने कहा कि आम जनता को पुलिस बिना एफआईआर के गैर कानूनी हिरासत में हत्या कर रही है तो कहीं वाहन चेकिंग के नाम पर जनता को प्रताड़ित किया जा रहा है। सवाल उठाने वाले पत्रकारों पर मुकदमा दर्ज करने वाली योगी सरकार बताए की आज तक चिन्मयानंद को गिरफ़्तार क्यों नहीं किया।

धरने में मुख्य रूप से सोशलिस्ट पार्टी (इंडिया) के नेता पन्नालाल सुराना, श्याम गंभीर, तहसीन, मैगसेसे पुरस्कार से सम्मानित डा. संदीप पाण्डेय, रिहाई मंच अध्यक्ष मोहम्मद शुऐब, राजीव यादव, सृजन योगी अदियोग, रॉबिन वर्मा, वीरेंद्र कुमार गुप्ता, अभिभावक मंच से रवीन्द्र, अभ्युदय, प्रवीण श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

Related posts

सोशलिस्ट पार्टी (इण्डिया) का सवाल : आरएसएस नेता इन्द्रेश कुमार को कैसे दे सकते हैं डी. लिट. उपाधि

समकालीन जनमत

क्रान्ति के मोर्चे का सिपाही कामरेड गंगा प्रसाद

समकालीन जनमत

अजय सिंह की कविताएँ अकेले पड़ जाने का खतरा उठा कर भी अपनी बात कहती हैं

‘ बेटी होती तो आज उसका पुलिस भर्ती का मेडिकल दिलवाने जाता ’

‘ यह तश्ना की है गज़ल, इस शायरी में गाने-बजाने को कुछ नही ’

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.