Tag : जन संस्कृति मंच

खबर

सांस्कृतिक-सामाजिक संगठनों ने कहा : मानवाधिकार-कर्मियों और लेखकों-पत्रकारों की गिरफ्तारियों पर रोक लगे

समकालीन जनमत
 जन संस्कृति मंच, दलित लेखक संघ, प्रगतिशील लेखक संघ, न्यू सोशलिस्ट इनिशिएटिव, प्रतिरोध का सिनेमा, संगवारी, जन नाट्य मंच और जनवादी लेखक संघ ने असहमति...
कविता

कोरोना समय में कविता :  ‘लहू से सनी रोटियां दुनिया देख रही है ’

समकालीन जनमत
लखनऊ. यह समय अभिधा का है। जो व्यंजना में कविता की बात करते हैं, कहीं न कहीं उनके अवचेतन में डर है। सत्ता का आतंक...
खबर

साहित्य अकादमी में महिला अधिकारी के साथ हुई यौनिक हिंसा एवं नस्लीय टिप्पणी का विरोध –जन संस्कृति मंच

समकालीन जनमत
24 फरवरी, नई दिल्ली सोशल मीडिया एवं इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से यह जानकारी मिली है कि साहित्य  अकादमी, जो कि देश की सर्वोच्च एवं प्रतिष्ठित साहित्यिक संस्था...
खबर

प्रगतिशील-वामपंथी आंदोलन की सक्रिय शख्सियत थे खगेंद्र ठाकुर : जन संस्कृति मंच

सुप्रसिद्ध प्रगतिशील आलोचक खगेंद्र ठाकुर को जन संस्कृति मंच की श्रद्धांजलि पटना. जन संस्कृति मंच ने सुप्रसिद्ध प्रगतिशील आलोचक, कवि, व्यंग्यकार, संगठक और वामपंथी नेता...
खबर

शिक्षा संस्थानों को हिंसा और आतंक से बचाए रखना लोकतंत्र व संविधान की रक्षा की पूर्वशर्त है 

नई दिल्ली। जेएनयू में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के गुंडों द्वारा 5 जनवरी को की गई हिंसा की जनवादी लेखक संघ, दलित लेखक संघ, जन संस्कृति मंच...
खबर

लेखक संगठनों ने की सामाजिक कार्यकर्ताओं की रिहाई की मांग

कौशल किशोर
लखनऊ, 29 दिसम्बर 2019 केन्द्र की सरकार द्वारा लाये गये नागरिक संशोधन कानून और प्रस्तावित एनआरसी के विरुद्ध देश के लोकतांत्रिक, अमनपसन्द, देशभक्त और संविधान...
खबर

लेखक संगठनों का सीएए और एनआरसी के खिलाफ राष्ट्रीय प्रतिवाद में भागीदारी का आह्वान

कौशल किशोर
प्रलेस, जलेस, जसम इप्टा की उत्तर प्रदेश इकाइयों ने नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ देश भर के लोकतांत्रिक, अमनपसंद और संविधान में आस्था...
खबर साहित्य-संस्कृति

जन मुद्दों पर फिल्म निर्माण और प्रदर्शन का तंत्र बनाने का संदेश दे गया 11वां पटना फिल्मोत्सव

सुधीर सुमन
अंतिम दिन बच्चों की फिल्में दिखाई गईं और नाटक ‘नया सत्य’ का मंचन हुआ पटना. हिरावल-जन संस्कृति मंच द्वारा आयोजित त्रिदिवसीय प्रतिरोध का सिनेमा: पटना...
साहित्य-संस्कृति

आरा में विजेंद्र अनिल की स्मृति में आयोजन

समकालीन जनमत
विजेंद्र अनिल के जन्म की 75वीं वर्षगाँठ पर 21 जनवरी को आरा में एक बड़ा आयोजन होगा विजेंद्र अनिल के रचना-समग्र का प्रकाशन होगा 3...
साहित्य-संस्कृति

कवि केदारनाथ सिंह पर केंद्रित ‘साखी’ के विशेषांक और उनकी कविताओं पर परिचर्चा

समकालीन जनमत
जन संस्कृति मंच, अलीगढ़ और हिंदी विभाग, श्री वार्ष्णेय कॉलेज, अलीगढ के संयुक्त तत्वावधान में वार्ष्णेय कॉलेज में तीन अक्टूबर को केदारनाथ सिंह पर केंद्रित...
साहित्य-संस्कृति

विस्थापन के दर्द को उकेरती हैं उमेश पंकज की कविताएं

कौशल किशोर
लखनऊ, 6 अक्टूबर। कवि उमेश पंकज  के पहले कविता संग्रह ‘एक धरती मेरे अन्दर’ का आज यहां स्थानीय कैफ़ी आज़मी एकेडमी में लोकार्पण हुआ। कार्यक्रम...
साहित्य-संस्कृति

‘जनता का अर्थशास्त्र ’ एक जरूरी किताब – प्रो रमेश दीक्षित

लखनऊ। आवारा पूंजी साम्राज्यवादी पूंजी का नया चेहरा है। वह राजनीति पर कब्जा जमाती है, उसे अपना गुलाम बनाती है। वह जिस अर्थशास्त्र को निर्मित...
साहित्य-संस्कृति

तश्ना आलमी की शायरी में श्रम का सौंदर्य – कौशल किशोर

तश्ना आलमी की याद में लखनऊ में हुआ कार्यक्रम लखनऊ। तश्ना आलमी की शायरी प्रेम, संघर्ष व श्रम से मिलकर बनी है। इसमें श्रम का...
जनमत शख्सियत साहित्य-संस्कृति

त्रिलोचन की याद : बज़िद अपनी राह चलने वाला कवि

रामजी राय
(आज त्रिलोचन का जन्मदिन होता है । इस मौके पर प्रस्तुत है ‘समकालीन जनमत’ के प्रधान संपादक रामजी राय का यह संस्मरण ।) “पथ पर...
जनमत

‘ बुद्धिजीवी और कलाकार की खाल ओढ़े हत्या-सत्ता-समर्थकों की हम भर्त्सना करते हैं ’

चार लेखक संगठनों का साझा बयान लेखक-कलाकार हमेशा से सत्ता के विरोध में रहे हैं, लेकिन मोदीराज में सत्ता के विरोध का विरोध एक स्थायी...
शख्सियत साहित्य-संस्कृति

व्यक्तित्व में सरल और विचार में दृढ़: राजेन्द्र कुमार

समकालीन जनमत
विनोद तिवारी पचहत्तर पार : राजेंद्र कुमार राजेंद्र सर हमारे प्रिय अध्यापकों में रहे हैं । वह अपने व्यक्तित्व में नितांत सहज, सरल और साधारण...
खबर

सांप्रदायिक नफरत की राजनीति से लड़ते हुए सच्चे भारतीय राष्ट्रवाद को जिंदा रखना होगा : प्रो. राम पुनियानी

भोजपुर. ‘‘रोजी, रोटी, शिक्षा, स्वास्थ्य के मामलों को हल करना किसी भी लोकतांत्रिक व्यवस्था की अनिवार्य शर्त है, पर पिछले पांच साल से भारत में...
खबर

लेखक संगठनों ने मतदाताओं से मोदी सरकार को हराने की अपील की

नई दिल्ली. चार लेखक संगठनों-जनवादी लेखक संघ, जन संस्कृति मंच,  प्रगतिशील लेखक संघ, दलित लेखक संघ ने मतदाताओं से कॉर्पोरेट-परस्त साम्प्रदायिक-फ़ासीवादी मोदी सरकार को दुबारा...
साहित्य-संस्कृति

रचना सिर्फ सकलम नहीं बल्कि सकर्मक होनी चाहिए

समकालीन जनमत
75 पार राजेन्द्र कुमार : प्रो राजेन्द्र कुमार के सम्मान में उमड़ा नागरिक समाज इलाहाबाद। सेंट जोसेफ कालेज स्थित होगेन हाल में वरिष्ठ कवि, आलोचक...
खबर शख्सियत

कवि-पत्रकार तैयब खान की स्मृति को नमन

समकालीन जनमत
धनबाद-झरिया के बहुत ही सक्रिय और जन मूल्यधर्मी कवि तैयब खान अब हमारे बीच नहीं हैं।01 मार्च 2019 को किडनी की बीमारी के चलते उनका...