Saturday, December 10, 2022
Homeस्मृतिफिल्म निर्माण की प्रक्रिया से जुड़े लोगों के लिए संघर्ष करने वाले...

फिल्म निर्माण की प्रक्रिया से जुड़े लोगों के लिए संघर्ष करने वाले बेहतरीन अभिनेता थे चंद्रशेखर

फिल्म अभिनेता चंद्रशेखर को जन संस्कृति मंच की श्रद्धांजलि !

फिल्म अभिनेता चंद्रशेखर के निधन पर जन संस्कृति मंच ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा है कि वे हिन्दी सिनेमा के स्वर्णिम दौर के अभिनेता, निर्देशक और फिल्म निर्माता थे। बड़े चर्चित फिल्मकारों और अभिनेताओं के बीच उन्होंने अपनी बहुआयामी प्रतिभा के दम पर हिन्दी सिनेमा में अपनी पहचान बनाई थी। वे एक ऐसे अभिनेता थे, जिन्होंने फिल्म निर्माण की प्रक्रिया से जुड़े ऐसे लोगों की जिंदगी की समस्याओं पर ध्यान दिया, उनके लिए संगठन बनाया, जो लाइम लाइट में नहीं होते, परंतु जिनके श्रम के बिना फिल्म निर्माण संभव ही नहीं है।

उन्होंने सिने कलाकार संघ (सीआईएनटीएए) का गठन किया था। 1985 से 1996 तक वे सिने आर्टिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे। फिल्म निर्माण से जुड़े लोगों के कल्याण और सहयोग के लिए बनी कई संस्थाओं की भी उन्होंने जिम्मेवारी निभाई। इस कारण भी उनके प्रति फिल्म उद्योग से जुड़े लोगों में बेहद सम्मान था। ‘चा चा चा’ और ‘बारादरी’ वे चर्चित फिल्में हैं, जिन्होंने उन्होंने नायक की भूमिका निभाई थी। दोनों फिल्मों के गाने आज भी लोकप्रिय हैं। उन्होंने ‘चा चा चा’ के साथ ‘स्ट्रीट सिंगर’ का निर्माण, निर्देशन और लेखन का कार्य भी किया।

गुलजार के सहायक निर्देशक के रूप में कार्य करते हुए उन्होंने परिचय, कोशिश, आंधी, खुशबू और मौसम जैसी अत्यंत चर्चित फिल्मों के निर्माण में सहयोग किया। अभिनय के लंबे सफर में उन्होंने भारत भूषण, राजेश खन्ना से लेकर नब्बे के दशक के कई अभिनेताओं के साथ अभिनय किया। टीवी सीरियल रामायण में वे राजा दशरथ के मंत्री बने थे। चंद्रशेखर ने भारत छोड़ो आंदोलन में भी हिस्सा लिया था।

चंद्रशेखर का जन्म 7 जुलाई 1923 को हैदराबाद में हुआ था। आज 98 साल की उम्र में उनका निधन हो गया। 40 के दशक में काॅलेज की पढ़ाई छोड़कर वे बंबई आ गए थे। गायिका शमशाद बेगम की सिफारिश पर उन्हें फिल्मों में काम मिला। उन्होंने बेबश, दाग, फरमाइश, मीनार आदि फिल्मों में जूनियर आर्टिस्ट की भूमिका की। 1953 में वी.शांताराम की फिल्म ‘सुरंग’ में उन्हें पहली बार नायक की भूमिका मिली। चरित्र अभिनेता के रूप में उन्होंने गेट वे आॅफ इंडिया, बरसात की रात, बात एक रात की, जहांआरा, कटी पतंग, अजनबी, महबूबा, चरित्रहीन, शंकर दादा, अनपढ़, द बर्निंग ट्रेन, नमक हलाल, निकाह, डिस्को डान्सर समेत कई फिल्मों में अभिनय किया। चंद्रशेखर एक विनम्र और संवेदनशील कलाकार थे। जन संस्कृति मंच की ओर से उन्हें हार्दिक श्रद्धांजलि!

सुधीर सुमन
सुधीर सुमन समकालीन जनमत पत्रिका के संपादक मंडल में हैं
RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments