खबर

पटना में नागरिक प्रतिवाद सभा आयोजित कर स्वामी अग्निवेश पर जानलेवा हमले की भर्त्सना

पटना. प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश पर विद्यार्थी परिषद व भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं द्वारा किये गए जानलेवा हमले के खिलाफ बुधवार को कारगिल चौक, पटना में नागरिक प्रतिवाद सभा आयोजित की गई है. सभा में उपस्थित सैकड़ों लोगों ने एक स्वर में लोकतंत्र पर जारी इस चौतरफा हमले के विरोध में एकजुटता दिखलाई.

सभा की अध्यक्षता प्रो० डी एम दिवाकर तथा संचालन इंकलाबी नौजवान सभा के राज्य सचिव नवीन कुमार ने की.

सभा को संबोधित करते हुए माले विधायक सुदामा प्रसाद ने कहा कि जिस दिन सर्वोच्च न्यायालय ने भीड़ हिंसा और भीड़ हत्याओं के लिए केन्द्र और राज्यों की सरकारों को जिम्मेदार ठहराते हुए उनकी कड़ी आलोचना की, उसी दिन भाजपा युवा मोर्चा के गुण्डों की भीड़ ने सामाजिक एवं मानवाधिकार कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश पर झारखण्ड के पाकुर में बर्बर हमला कर दिया. इस घटना से एक फिर यह तथ्य उजागर हुआ है कि शासक पार्टी के फासिस्ट गिरोहों को कानून के राज, न्यायालयों और पुलिस का कोई भय नहीं है और वे बेधड़क अल्पसंख्यकों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और विरोध के स्वरों पर जानलेवा हमले करते रहेंगे.

अपने संबोधन में प्रो डीएम दिवाकर ने कहा कि भीड़ का आतंक पूरे देश में, और झारखण्ड समेत सभी भाजपा शासित राज्यों में मोदी राज का विशिष्ट चारित्रिक लक्षण बन गया है. यह बात पिछले दिनों केन्द्र में केबिनेट मंत्री जयन्त सिन्हा ने भीड़ हत्या के सजायाफ्ता अपराधियों का सार्वजनिक सम्मान करके स्पष्ट कर दी है.

सभा को संबोधित करते हुए भाकपा माले के पोलित ब्यूरो सदस्य राजाराम सिंह ने
कहा कि हाल ही में मोदी सरकार एक तथाकथित “अनुशासित” और राष्ट्रवादी “युवा शक्ति” को तैयार करने के नाम में 10 लाख युवाओं का एक कैडर गठित करने का प्रस्ताव लायी है. संघ और युवा मोर्चा, हिन्दू युवा वाहिनी, बजरंग दल, और तरह तरह के गऊ रक्षा दलों जैसे भाजपा के ‘ युवा ’ संगठनों द्वारा जारी भीड़ हिंसा व हत्याओं के बीच इस तरह का प्रस्ताव हिटलर और मुसोलिनी की फासिस्ट मिलीशियाओं की याद ताजा कर रहा है.

 

नागरिक प्रतिवाद सभा को संबोधित करते हुए कर्मचारी महासंघ नेता रामबली प्रसाद ने कहा कि भाजपा देश की लोकतंत्र तथा मानवता पर सीधा हमला कर देश को रसातल में धकेल रही है. परंतु देश की जनता उसके मंसूबों को नाकाम करते हुए आगामी चुनाव में उसे सत्ता से उखाड़ फेकेगी.

सभा को ऐपवा राज्य सचिव शशि यादव , इंसाफ कार्यकर्ता इरफान, बामसेफ नेता मनीष रंजन, पटना बिट्स के बश्शार हबीबुल्ला, कम्युनिस्ट सेंटर ऑफ इंडिया के सतीश कुमार तथा कवि शशांक मुकुट शेखर ने भी संबोधित किया.

सभा में माले के केंद्रीय कमिटी सदस्य अभ्युदय, समकालीन लोकयुद्ध के संतोष सहर, इंसाफ मंच के राजाराम, पी डी वाई एफ के राधेश्याम, दिशा के विवेक, कोरस सचिव समता राय, जसम संयोजक राजेश कमल, मुर्तुजा अली, उमेश सिंह, आर एन ठाकुर , माले नेता जितेन्द्र , अशोक , इनौस के मनीष ,सुधीर , तारीक ; आइसा से आकाश कश्यप, आलोक यादव , संतोष आर्या , निशांत सहित सैकड़ों लोगों की उपस्थिति रही.

Related posts

प्रो मैनेजर पांडेय को उदयराज सिंह स्मृति सम्मान

समकालीन जनमत

बाढ़ राहत में नीतीश सरकार अब भी सुस्त, भाकपा-माले चलाएगी बाढ़ राहत अभियान

गोरख के गीतों के साथ देश-दुनिया और समाज को बेहतर बनाया जा सकता है: अरुण कमल

सुधीर सुमन

‘ हमारे वतन की नयी ज़िन्दगी हो ‘

समकालीन जनमत

‘जश्ने फैज़’ ने अभियान का रूप लिया, आगरा, अलीगढ़ , इलाहाबाद, लखनऊ, पटना , दरभंगा में हो रहा है आयोजन

समकालीन जनमत

1 comment

Dilip singh July 19, 2018 at 7:13 pm

Super

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.