समकालीन जनमत
ख़बर

बिहार में भारत बंद असरदार, माले कार्यकर्ताओं ने ट्रेन व सड़क यातायात ठप किया

पटना। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान आज आहूत भारत बंद का बिहार के विभिन्न इलाकों में सुबह से ही असर देखा गया. माले कार्यकर्ताओं ने कई स्थानों पर ट्रेनों का परिचालन बाधित कर दिया और नेशनल हाइवे जामकर किसानों के आंदोलन का समर्थन किया.
दरभंगा के लहेरिया सराय स्टेशन पर आज तीन काले कृषि कानूनों की वापसी, प्रस्तावित बिजली बिल 2020 वापस करने, न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सभी फसलों के खरीद की गारंटी करने आदि मांगों पर अहले सुबह कलकत्ता जयनगर गंगासागर एक्सप्रेस को रोका गया. दरभंगा के लहेरियासराय स्टेशन पर गंगा सागर एक्सप्रेस को भाकपा (माले) राज्य कमिटी सदस्य अभिषेक कुमार, किसान महासभा के जिलाध्यक्ष शिवन यादव, आइसा जिलाध्यक्ष प्रिंस कुमार, भाकपा(माले) जिला कमिटी सदस्य देवेंद्र कुमार, लोकल सचिव किशुन पासवान, हरिश्चन्द पासवान, अमर पासवान, राजेश पासवान, अरूण कमति, विनोद पासवान आदि नेताओं के नेतृत्व में ट्रेन का परिचालन बाधित किया गया.
सहरसा में कृषि कानून वापसी को लेकर भाकपा माले के युवा नेता चंदन कु यादव, खेग्रामस राष्ट्रीय पार्षद विक्की राम आदि नेताओं ने नन्दलाली स्टेशन पर रेलवे ट्रैक पर जाम लगा दिया है, जिससे सहरसा-सुपौल ट्रेन का परिचालन बाधित हुआ है. हायाघाट में भी माले कार्यकर्ताओं ने रेल रोकी.
आरा जिला में मेला मोड़ मोपती बाजर पर किसान अन्दोलन समर्थन मे भाकपा-माले व दुदरी पार्टियों कार्यकर्ता सड़क जाम में उतर आए है. कामता प्रसाद सिंह, मुहरम अंसारी, ददन राम, देवमून राम, उपेन्द्र सिंह यादव जिला परिषद तरारी(त्रक), गणेश ,मंटू,सुनील राम,संजय, यूवा नेता दीपक कुमार तथा रितु राज आदि नेताओं का बंद का नेतृत्व किया.
गड़हनी, चरपोखरी, सहार आदि ग्रामीण इलाकों में भी बंद का व्यापक असर दिखा. गड़हनी में माले कार्यकर्ताओं ने आरा-सासाराम स्टेट हाइवे को जाम कर बंद को सफल बनाया. आइसा नेताओं ने इसाढ़ी बाजार में बंद का नेतृत्व किया. जगदीशपुर में भी आइसा नेताओं ने नयकाटोला को जाम करके सभा आयोजित की और भारत बंद को सफल बनाया. आरा शहर में इनौस नेताओं ने जुलूस निकाला.
नालन्दा के हिलसा में भी माले व राजद के कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए हैं और फतुहा-इस्लामपुर रोड को कई स्थानों पर जाम कर दिया है. जहानाबाद में भी माले-राजद कार्यकर्ताओं ने गया-पटना रोड को जाम कर दिया है. बंद समर्थकों ने एनएच 83 और एनएच 110 को जाम कर दिया. जहानाबाद के काको मोड़ पर सड़क जाम के दौरान बंद समर्थकों ने कई ट्रकों को रोक दिया और कृषि बिल के विरोध में नारेबाजी की. अरवल में विधायक महानंद सिंह के नेतृत्व में पटना-औरंगाबाद रोड को जहानाबाद मोड़ के समीप जाम किया गया. वहीं, पालीगंज विधायक संदीप सौरभ के नेतृत्व में पालीगंज व दुल्हिनबाजार को बंद कराने सैंकड़ों की संख्या में माले कार्यकर्ता सड़क पर उतरे.
समस्तीपुर के ताजपुर में उच्च पथ को गांधी चैक के पास जाम करके परिचालन बाधित है. माले, किसान महासभा, राजद व आइसा नेताओं ने पूसा प्रखंड के सैदपुर पुल पर दरभंगा-समस्तीपुर-मुजफ्फरपुर रोड को जाम किया. बेगूसराय में माले व आइसा नेताओं ने नेशनल हाइवे 31 को पूरी तरह जाम कर दिया. दरभंगा में आइसा कार्यकर्ताओं ने ललित नारायण मिथिला विवि, , संस्कृत विवि सहित शहर के काॅलेजों को बंद कराया. मोतिहारी में भी बन्द का व्यापक असर दिख रहा है.
माले कार्यकर्ताओं ने एनएच 28 को जामकर मुजफ्फरपुर से यूपी और नेपाल को जोड़ने वाली सड़क पर आवागमन ठप्प कर दिया. मुजफ्फरपुर के मुशहरी, बोचहां आदि प्रखंडों में सड़कें जाम हैं और फिर हरसिभा चैक पर सभा आयोजित की गई. गया जिला में मुख्यालय व टिकारी में बंद का व्यापक असर है. दरभंगा में ट्रेन परिचालन बाधित करने के उपरांत माले कार्यकर्ताओं ने तारालाही चौक को भी घंटो जाम रखा. पूर्णिया के रूपौली में राज्य पथ 65 माले कार्यकर्ताओं ने बंद के समर्थन में विशाल मार्च का आयोजन किया.
सिवान शहर में पार्टी की केंद्रीय कमिटी के सदस्य नईमुद्दीन अंसारी के नेतृत्व में गुठनी चैरहा जाम किया गया. पूर्व विधायक अमरनाथ यादव सहित सैंकड़ों की संख्या में माले कार्यकर्ता शामिल हुए. सुपौल में माले कार्यकर्ताओं ने लोहिया नगर चैक को जाम कर वहां सभा आयोजित की. मधेपुरा में चौसा में बंद का जोरदार असर दिखा.

Related posts

Fearlessly expressing peoples opinion

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy