Image default
ख़बर

मधेपुरा में मक्का किसानों का सत्याग्रह चौथे दिन जिलाधिकारी से बातचीत के बाद 10 दिन के लिए स्थगित 

मधेपुरा (बिहार). चार दिनों से मक्के की एम.एस.पी. पर सरकारी खरीद कर तत्क्षण भुगतान कराने, पीएम-आसा के तहत भावान्तर की मांग को लेकर चल रहा कोशी नव निर्माण मंच का सत्याग्रह डीएम से वार्ता के बाद 10 दिनों के लिए स्थगित किया गया. मंच ने कहा है कि यदि मांगे नही मानी गयी तो जुलाई में अनशन शुरू होगा.

आज सत्याग्रह के चौथे दिन दोपहर अनुमंडल पदाधिकारी बृंदालाल सत्याग्रह स्थल पर आकर डीएम से वार्ता के लिए प्रतिनिधि मंडल लेकर गए. सत्याग्रह का नेतृत्व कर रहे संदीप यादव के साथ भारत भूषण, रघुबंश मणि, बिजेन्द्र व महेन्द्र यादव थे.

वार्ता में में प्रतिनधि मण्डल के सदस्यों ने माँग पत्र देते हुए खराब हो रहे मक्का व किसनो की दुर्दशा,व्यापारियों द्वारा तौल में गड़बड़ी इत्यादि बातें उठाते हुए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर मक्का की सरकारी खरीद कराने तत्क्षण भुगतान कराने अब तक बिक गयी मक्का को भावन्तर दिलाने की मांग उठायी.  डीएम नवदीप शुक्ला ने किसानों की माँगो को जायज मानते हुए कहा कि मैं भी देख रहा हूँ कि मक्का के किसान परेशान है. आवेदन को मुख्यमंत्री को भेजने के अलावे खुद भी कृषि विभाग में पहल कर वार्ता करूँगा और मुझे विश्वास है कि सकारात्मक रहेगा.

वार्ता के पश्चात सत्याग्रह स्थल पर समन्वय समिति की बैठक कर आगे की रणनीति तय की गयी. जिला पदाधिकारी के व्यक्तिगत पहल के सम्मान में 10 दिन के लिए सत्याग्रह स्थगित करने का निर्णय लिया. यदि दस दिन में मांग नही मानी जाती है तो पुनः जुलाई में अनशन शुरू किया जाएगा.

आज के सत्याग्रह में बात-चीत रखते हुए वक्ताओं ने कहा कि मक्का व मजदूर दोनो कोशी से बाहर दूसरे जगह जाते है और इसके चलते किसान मजदूर दोनो की दुर्दशा है. कोशी के विकास की कुंजी मक्का के सरकारी खरीद और उससे आधारित उद्योगों के विकास से होगा. मजदूर बर्बाद है किसान भी बर्बाद हो रहा है. मानसून में मक्का सड़ रहा है. आज की बात चीत में मुन्ना पासवान, सन्तोष कुमार सन्तोषी , सुमन, यशपाल, रौशन कुमार, अंजय कुमार, दुनिददत माधव कुमार, आकाश इत्यादि ने बाते रखी.

Related posts

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy