समकालीन जनमत
ख़बर

सामाजिक न्याय और संविधान पर हमले के खिलाफ 10 को लखनऊ में जनांदोलनों के नेताओं की जुटान

शाहिद आज़मी की बरसी पर सवर्ण आरक्षण और 13 प्वाइंट रोस्टर जैसे सवाल बनेंगे अहम मुद्दे

लखनऊ. रिहाई मंच द्वारा शाहिद आज़मी की नवीं बरसी पर रोहित वेमुला को याद करते हुए सम्मान, सामाजिक न्याय, संविधान के लिए हो रहे जमावड़े में सूबे के कोने-कोने से  सामाजिक न्याय के लिए संघर्ष करने वाले नेता शिरकत करेंगे. 10 फरवरी को सुबह 11 बजे से कैफ़ी आज़मी एकेडेमी निशातगंज लखनऊ में हो रहे इस जमावड़े के मुख्य एजेंडे में सवर्ण आरक्षण और 13 प्वाइंट रोस्टर होगा.

रिहाई मंच नेता शकील कुरैशी ने बताया की शाहिद आजमी को याद करते हुए देश के मौजूदा हालात को लेकर उत्तर प्रदेश में सामाजिक न्याय, सुरक्षा और आर्थिक संकट को लेकर संघर्षरत साथियों के साथ इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. 10 फरवरी 2019 को होने वाले आयोजन में देश में किसान आंदोलन, शिक्षा-चिकित्सा-रोजगार जैसे मुद्दे अहम होंगे. गाय के नाम राजनीति करने वाली सरकार न किसान पर बोलने को तैयार है न सूबे में हो रहे महिला अत्याचार पर, यहां तक की अपने पुलिस इंस्पेक्टर की हत्या पर भी आपराधिक ख़ामोशी साधे हुए है. फर्जी मुठभेड़ की सच्चाई पुलिस के ठांय-ठांय के वीडियो साफ कर देते हैं. बार-बार मंदिर मुद्दे से समाज को बांटने वाली ओछी राजनीति लगातार सांप्रदायिक-जातीय हिंसा के जरिए वंचित समाज पर रासुका के तहत कार्रवाई कर उत्पीड़ित कर रही है।

रिहाई मंच नेता राबिन वर्मा ने बताया कि बीएचयू, एएमयू, बीबीएयू, इलाहबाद विश्वविद्यालय, लखनऊ विश्वविद्यालय समेत 2 अप्रैल को हुए भारत बंद के उन तमाम क्षेत्रों से सामाजिक न्याय के लिए संघर्षशील साथी शामिल होंगे. शामिल होने वालों में प्रमुख रूप से एसआर दारापुरी (पूर्व आईजी), अजय प्रकाश (संपादक जन ज्वार), मनोज सिंह (वरिष्ठ पत्रकार), विनय जायसवाल (स्तम्भकार), एएमयू के छात्र नेता अहमद मुजतबा फराज और मो0 आरिफ, बीबीएचयू के छात्र नेता रणधीर यादव, शिवदास और कुलदीप मीना, गोरखनाथ यादव (सामाजिक न्याय मोर्चा, यूपी), रिंकू यादव (सामाजिक न्याय मोर्चा, बिहार), सुनील राव (भीम आर्मी), इं0 हरिकेष्वर राम (अबसब), वीरेन्द्र कुमार (छात्र नेता जेएनयू, झारखण्ड जनतांत्रिक महासभा), राम लाल (पूर्व विधायक), मोहम्मद सलीम (इंसाफ मंच), मुजाहिद नफीस (माइनॉरिटी कोर्डिनेशन कमेटी गुजरात), संजीव (सत्य शोधक संघ), प्रो.मंजूर अली, प्रो0 राजेन्द्र वर्मा, प्रो0 राजेश्वर यादव, सचेंदर यादव (लखनऊ विश्वविद्यालय), शिवकुमार यादव (यादव सेना), प्रो0 छबी लाल (अरबी फारसी यूनिवर्सिटी), सुधाकर पुष्कर (बीबीएयू), नीरज पटेल (सम्पादक जनमत), सूरज बौद्ध (भारतीय मूल निवासी संगठन), राजीव ध्यानी (स्वराज अभियान), बलवंत यादव, अखिलेश यादव, बृजेश यादव (दलित-मुस्लिम अधिकार मंच), जाकिर अली त्यागी, उमेश कुमार गौतम (डॉ अम्बेडकर निशुल्क शिक्षण संस्थान), विशाल भारती (द्रष्टि बाधित विद्यालय समिति), मुन्ना कुमार (भारतबंद के आन्दोलनकारी), इनामुल (इंटीग्रल यूनिवर्सिटी) होंगे.

Related posts

Fearlessly expressing peoples opinion

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy