Image default
ख़बर

सत्ता परिवर्तन में भोजपुर की जनता बनेगी भागीदार : दीपंकर भट्टाचार्य

-2014 का चुनाव हादसा था, इस बार भूल सुधार करेगी जनता : दीपंकर भट्टाचार्य

-राजू यादव के पक्ष में महागठबंधन के नेताओं ने की अपील

आरा। ‘‘आजादी के बाद पहली बार ऐसी सरकार आई, जो देश में राष्ट्रवाद के नाम पर सांप्रदायिक तनाव फैलाती है। भ्रष्टाचार का झूठा विरोध करने वाली सरकार ने भ्रष्टाचार को कानूनी रूप दे दिया है। स्वदेशी की बात करने वाली सरकार ने राफेल मामले में विदेश को फायदा पहुंचाया। एनडीए सरकार ने पांच साल तक काम करने के बजाय प्रचार पर जोर दिया। अब समय आ गया है कि जनता का दमन करने वाली सरकार को बदलने में भोजपुर की जनता भागीदार बनेगी। 2014 का चुनाव एक हादसा था, जिसका भूल सुधार इस बार जनता करेगी।’’

उक्त बातें 8 अप्रैल को भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव कॉ. दीपंकर भट्टाचार्य ने पार्टी द्वारा आरा के आर्य भवन में आयोजित नागरिक सम्मेलन में कही।
उन्होंने कहा कि 1989 में जब भाजपा ने राम मंदिर का मुद्दा उठाकर देश को सांप्रदायिक रूप से बांटने का काम किया था, तब आरा की जनता ने उसे नकार कर कॉ. रामेश्वर प्रसाद को जीत दिलाई थी। आज फिर भाजपा देश को सांप्रदायिक तरीके से बांट रही है, तब आरा की जनता उसी तरह से इस बार महागठबंधन समर्थित भाकपा माले के उम्मीदवार राजू यादव के पक्ष में मतदान कर भाजपा और उसके सहयोगियों के सांप्रदायिक नीतियों के खिलाफ आवाज उठाएगी।

कॉ. भट्टाचार्य ने कहा कि भाजपा वंशवाद की बात करती है, लेकिन उससे आगे जाकर वह व्यक्तिवाद को समर्थन करते हुए सारे संस्थानों को ध्वस्त कर रही है। अब सरकार निर्णय नहीं लेती, बल्कि मोदी निर्णय लेते हैं। मुद्दों पर चुनाव होने के बजाय मोदी के नाम पर चुनाव कराया जा रहा है, जो कि देश के लिए खतरनाक है। नरेन्द्र मोदी कहते हैं कि देश को सराब से मुक्त करना है, लेकिन हम कहते हैं कि ‘न’रेन्द्र मोदी और अमित ‘शा’ह यानी ‘‘नशा’’ से देश को मुक्त करना है।

कॉ. दीपंकर ने कहा कि वर्तमान एनडीए सरकार ने देश को नाजुक मोड़ पर ला दिया है। दंगाइयों को राष्ट्रवादी करार दिया जा रहा है और सरकार पर सवाल उठाने वाले को देशद्रोही कहा जा रहा है। दलितों के सम्मान की बात करने वाले चंद्रशेखर आजाद ‘रावण’ को राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत देशद्रोह का आरोप लगाकर गिरफ्तार किया जाता है। दलितों के स्वाभिमान की बात करने को राष्ट्र विरोधी कहा जाता है। बेटी बचाओ की बात करने वाली सरकार के शासन में महिला हिंसा बढ़ गई है। विकास के नाम पर सरकार विनाश कर रही है। वे कहते हैं कि केन्द्र और राज्य में एक पार्टी की सरकार आने से डबल इंजिन की सरकार होगी, लेकिन हम कहते हैं कि वह डबल बुलडोजर की ऐसी सरकार बन जाती है, जहां दोगुने ताकत से वे लोग रोजी-रोटी की मांग को कुचल देते हैं। आज देश के संसाधनों पर पूंजीपतियों पर कब्जा हो गया है। मोदी सरकार किसानों की सम्मान की बात करती है, लेकिन किसानों को वह साढ़े तीन रुपए प्रतिदिन देकर उनका मजाक उड़ा रही है। जबकि साफ तौर पर किसानों की मांग है कि स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू किया जाए और कर्ज माफी किया जाए। इस मामले पर भी मोदी सरकार ने किसानों को धोखा दिया है। मोदी जी कुंभ में सफाई कर्मचारियों को पैर धोते हैं, लेकिन उनकी समस्याओं और उस समुदाय को उपेक्षित छोड़ देते हैं। हर रोज देश में कहीं न कहीं सफाई कर्मचारियों की मौत हो रही है। नोटबंदी ने इस देश को रोजगार विहीन कर दिया, लेकिन वे कहते हैं कि देश में रोजगार बढ़ा है। स्वच्छ भारत के नाम पर महिलाओं का अपमान किया गया। इस सरकार के आने के बाद दलितों पर उत्पीड़न बढ़ा है। सारे जन संहार और दंगे के आरोपी छूटते जा रहे हैं।

आरा लोकसभा क्षेत्र के सांसद आर.के. सिंह पर तीखा हमला करते हुए कॉ. दीपंकर ने कहा कि एक नौकरशाह को जनता की भाषा समझ में नहीं आती है। वे सत्ता की भाषा बोलते हैं। उन्हें जनता के दुःख-दर्द से कोई लेना-देना नहीं है। इसलिए आरा की जनता 2014 में हुए हादसे का भूल सुधार करते हुए जनता के प्रतिनिधि के रूप में राजू यादव के पक्ष में मतदान करेगी।

आरा से महागठबंधन समर्थित भाकपा माले के उम्मीदवार कॉ. राजू यादव ने कहा कि पिछले 5 साल में आरा लोकसभा क्षेत्र की जनता विकास की बाट जोहती रही, लेकिन अफसोस है कि आरा में कुछ नहीं हुआ। जिले में बिजली की स्थिति खराब है, शिक्षा की स्थिति बदहाल है, युवाओं को रोजगार नहीं है। आरा में विकास एक जुमला बन गया। ऐसे जुमलेबाज सरकार और जनप्रतिनिधि को इस बार सत्ता से बाहर करना है।
चुनाव तैयारी समिति के संयोजक एवं पूर्व विधायक विजेन्द्र यादव ने कहा कि लोकसभा क्षेत्र के 5 विधानसभा क्षेत्रों से राजद के विधायक हैं, जो कि पूरी तरह से महागठबंधन समर्थित उम्मीदवार के पक्ष में हैं। उन्होंने कहा कि महागठबंधन के सभी दल के नेता और कार्यकर्ता एक साथ मिलकर आरा से कॉं. राजू यादव की जीत सुनिश्चित करेंगे।

आरा के विधायक अनवर आलम ने कहा कि आरा की जनता को याद रखना होगा कि मोदी जी ने आरा की जनता की बोली लगाई थी, लेकिन आरा की जनता ने उन्हें नकार दिया था। एक बार फिर आरा की जनता भाजपा और जद (यू) को नकारेगी।

संदेश के विधायक अरूण यादव ने कहा कि यह गरीबों और अमीरों के बीच की लड़ाई है। मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने की लड़ाई है। हमें मतदाताओं को यह भी बताना है कि लालटेन के बजाय तीन तारा वाले झंडे के निशान पर बटन दबाना है।

जगदीशपुर के विधायक रामबिशुन लोहिया ने कहा कि केन्द्र में पूंजीपतियों की सरकार है। हमें जनता की सरकार चुनना है। उन्होंने सवाल उठाया कि आरा के सांसद ने एक बार भी अनुश्रवण समिति की बैठक नहीं बुलाई, तो वह किस विकास की बात करते हैं?

पीरो के पूर्व विधायक चंद्रदीप सिंह ने कहा कि वर्तमान एनडीए सरकार देश की संपुभता एवं संविधान के लिए खतरा है। वे किसानों को रिश्वत देकर वोट पाना चाहते हैं। किसानों की मांगों को वे अनसूनी करते हैं।

आइसा के राष्ट्रीय महासचिव संदीप सौरभ ने कहा कि भाजपा पैसे की ताकत से सरकार और संस्थानों को खरीद रही है। वे मुद्दों पर चुनाव लड़ने के बजाय मोदी पर चुनाव लड़ रहे हैं। बेरोजगारी, महिला हिंसा, शिक्षा एवं स्वास्थ्य पर वे बात नहीं करते। हमारा साफ कहना है कि मोदी नहीं, मुद्दों पर बात हो।

सीपीआई के जिला सचिव प्रमोद यादव ने कहा कि संविधान बचाने और मुद्दों की राजनीति के लिए महागठबंधन की जीत सुनिश्चित करना है। कांग्रेस के जिला अध्यक्ष त्रिवेणी सिंह ने कहा कि संविधान की रक्षा एवं गरीबों को न्याय दिलाने के लिए एनडीए के खिलाफ एकजुटता जरूरी है।

इंसाफ मंच के राज्य सचिव कयामुद्दीन अंसारी, एपवा की राज्य समिति सदस्य सुश्री संगीता सिंह, राजद नेता आदिव रिजवी, भोजपुर जिला परिषद अध्यक्ष सुश्री आरती देवी, आरा नगर परिषद की पूर्व अध्यक्ष सुश्री शिवकुमारी देवी, राजद प्रदेश सचिव मनोज सिंह, भोजपुर जिला परिषद सदस्य धनंजय, जिला परिषद के पूर्व सदस्य शैलेन्द्र कुमार एवं युवा राजद नेता अरुण कुमार यादव ने भी अपनी बात रखते हुए राजू यादव के पक्ष में मतदान करने की अपील की।

इस मौके पर भाकपा माले पोलित ब्यूरो सदस्य कॉ. स्वदेश भट्टाचार्य, पोलित ब्यूरो सदस्य कॉ. रामजी राय, राज्य स्थायी समिति सदस्य कॉ. नंदकिशोर प्रसाद, कॉ. संतोष सहर, जिला सचिव कॉ. जवाहर लाल सिंह, केन्द्रीय समिति सदस्य कॉ. मनोज मंजिल, वीआईपी के अखिलेश बिंद, रालोसपा के अशोक कुशवाहा, राजद नेता नुरुल हक राइन, रामसकल सिंह भोजपुरिया, कांग्रेस नेता वीरेन्द्र मिश्र, बीरबल यादव, सुश्री ऊषा देवी सहित महागठबंधन के कई नेता शामिल हुए। कार्यक्रम का संचालन सुधीर सुमन ने किया। भाकपा माले के नगर सचिव दिलराज प्रीतम ने आभार व्यक्त किया।

Related posts

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy