Monday, October 2, 2023
Tagsरिक्त स्थान और अन्य कविताएँ

Tag: रिक्त स्थान और अन्य कविताएँ

- Advertisment -
Google search engine

Most Read

EDITOR PICKS

POPULAR POSTS

ABOUT US

निराला की यह पंक्ति आज की मुख्यधारा मीडिया पर सोलहो आने लागू होती है। मीडिया जिसकी खाता है, उसी की गाएगा. ऐसे में न्याय, सच और जनता के पक्ष में आवाज बुलंद करने वाले वैकल्पिक मीडिया की जरूरत और बढ़ जाती है. आइये वैकल्पिक मीडिया की मुहिम को तेज करें। समकालीन जनमत के सदस्य बनें, बनाएँ. ‘जनमत’ की वार्षिक सदस्यता सिर्फ 200 रूपये है. अगर आप इलाहबाद से बाहर का चेक भेज रहे हैं तो उसमें 25 रूपये अतिरक्त जोड़ दें. अलावा आप ‘जनमत’ के लिए पांच सौ रूपये से ऊपर की आर्थिक सहायता भी भेज सकते हैं. अपना सहयोग ड्राफ्ट अथवा रेखांकित चेक ‘समकालीन जनमत’ के नाम से इस पते पर भेजें: मीना राय, प्रबंध संपादक, समकालीन जनमत, 267, पुराना कटरा, इलाहबाद -211002. फोन संपर्क: +91 – 9450703296 admin@samkaleenjanmat.in

FOLLOW US

© Copyright Samkaleen Janmat Develop By : HYPERNET IT SOLUTIONS