कविता साहित्य-संस्कृति

‘यह तश्ना की है गज़ल, इस शायरी में गाने-बजाने को कुछ नहीं’

समकालीन जनमत
तश्ना आलमी की याद में लखनऊ में सजी गज़लों की शाम लखनऊ । तश्ना आलमी की शायरी गहरे तक छूती है। ऐसा लगता है कि...
ख़बर

अवैध खनन मामले में गोरखपुर और कानपुर देहात के डीएम को सस्पेंड न करने पर हाईकोर्ट नाराज

समकालीन जनमत
इलाहाबाद।रामपुर जिले में कोसी नदी से अवैध खनन के मामले में रामपुर के डीएम रहे राजीव रौतेला और राकेश कुमार सिंह को निलम्बित करने और...
ख़बर

बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर में जनवरी माह के 31 दिन में 129 बच्चों की मौत

समकालीन जनमत
गोरखपुर, 2 फरवरी। बीआरडी मेडिकल कालेज में जनवरी माह में 129 बच्चों की विभिन्न बीमारियों से मौत हुई है। इनमें 89 नवजात शिशु थे। मिली...
ज़ेर-ए-बहस

चार लाख पद ख़त्म और ‘ माननीयों ’ की वेतन वृद्धि

इन्द्रेश मैखुरी
बजट से ठीक एक दिन पहले अखबारों में खबर छपी कि केंद्र सरकार लगभग 4 लाख ऐसे पद खत्म करने जा रही है,जो पांच सालों...
ख़बर

ट्रेड यूनियनों ने बजट को मज़दूर व गरीब विरोधी बताया, प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री का पुतला फूंका

समकालीन जनमत
पटना,01 फरवरी. बिहार के केंद्रीय ट्रेड यूनियनों एटक, सीटू, इंटक, टीयूसीसी, एआईयूटीयूसी, यूटीयूसी,एएमयू आदि संगठनों ने मोदी सरकार द्वारा पेश आम बजट को मज़दूर व गरीब विरोधी एवं...
साहित्य-संस्कृति

जयपुर में जन साहित्य पर्व

हिमांशु पंड्या
बीती 24 और 25 जनवरी को राजस्थान यूनिवर्सिटी के कैंपस के अंदर थोड़ी छिपी जगह यानि शिक्षक संघ के हाल देरा श्री भवन के लान...
ख़बर

थोथी बातें और भ्रामक दावों वाला है बजट -भाकपा माले

समकालीन जनमत
नई दिल्‍ली, 1 फरवरी . भाकपा माले के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने बजट 2018 को थोथी बातें और भ्रामक दावों वाला बताया है. उन्होंने कहा कि...
कविता साहित्य-संस्कृति

युग की नब्ज़ धरने वाली गोरख की कविता मुक्ति स्वप्न की कविता है- अवधेश

समकालीन जनमत
इलाहाबाद में गोरख स्मृति दिवस  इलाहाबाद, 29 जनवरी. परिवेश और जन संस्कृति मंच की ओर से 29 जनवरी को इलाहाबाद छात्र संघ भवन में जनकवि गोरख पांडेय की पुण्यतिथि के मौक़े पर ‘ गोरख स्मृति दिवस ’ का आयोजन हुआ। आयोजन दो सत्रों में बँटा हुआ था। पहला...
कविता नाटक साहित्य-संस्कृति

‘हमारे वतन की नयी ज़िन्दगी हो’

समकालीन जनमत
कोरस ने पटना में ‘एक शाम गोरख के नाम’ अयोजित किया पटना , 28 जनवरी. कोरस द्वारा जनकवि गोरख पांडेय की स्मृति दिवस के पूर्व...
साहित्य-संस्कृति

कविता शब्दों की इंजीनियरिंग है: प्रो. तरुण कुमार

सुधीर सुमन
गोरख पांडेय स्मृति आयोजन के दूसरे दिन प्रो. संतोष कुमार के कविता संग्रह ‘ढिबरी’ का लोकार्पण और बातचीत पटना, 29 जनवरी. हिरावल द्वारा आयोजित दो...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy