क्या नवाज़ शरीफ़ का सियासी सर्कल पूरा हो गया है ?

पूर्व पाकिस्तानी राजनयिक हुसैन हक़्क़ानी ने इंडियन एक्सप्रेस में लिखा है, पाकिस्तान में आप एक साथ भ्रष्ट और एंटी-मिलिट्री नहीं हो सकते. मतलब आप भ्रष्ट हैं लेकिन फौज़ को उपर मानते हैं तो आसिफ़ अली ज़रदारी की तरह राजनीती कर सकते हैं. लेकिन भ्रष्टाचार और सेना की खिलाफ़वर्ज़ी एक साथ हुआ तो आपका ‘ शरीफ़ ‘ होना लाज़मी है.

Read More

रक्षा बजट कम कर भारत और पाक शिक्षा-स्वास्थ्य पर खर्च बढ़ाएं : संदीप पाण्डेय

अहमदाबाद : साबरमती आश्रम से 19 जून को शुरू हुई भारत-पाक शांति एवं मैत्री पदयात्रा 30 जून को संपन्न हो गई. बी.एस.एफ़. की अनुमति न होने के कारण पद यात्री भारत-पाकिस्तान सीमा नाडा बेट तक नहीं जा सके और यात्रा को 25 किलोमीटर पहले नंदेश्वरी माता मंदिर पर समाप्त घोषित कर समापन समारोह अहमदाबाद में किया गया.  प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता संदीप पाण्डेय और उनके साथियों ने गाँधी आश्रम से नाडा बेट तक की 290 किलोमीटर की पदयात्रा 19 जून को शुरू की थी. पैदल यात्रा को पहले दिन अहमदाबाद पुलिस…

Read More

दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को क्या स्वतंत्र चेतना से डर लगने लगा है

यह मसला सिर्फ एक व्यक्ति के अपमान का नहीं है। सबसे बड़ा सवाल यह है कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को क्या स्वतंत्र चेतना से इतना डर लगने लगा है कि वह विचार विमर्श के मंच पर भिन्न मत का सामना करने से बचना चाहता है? क्या वह अनैतिक और असभ्य तरीकों से स्वतंत्र अभिव्यक्ति को नियंत्रित करने वाले देशों की सूची में अपना नाम लिखवाने की राह पर चल पड़ा है ? यह एक ऐसा सवाल है जिससे प्रत्येक लोकतांत्रिक भारतीय को चिंतित होना चाहिए, उसकी राजनीतिक विचारधारा जो भी हो।

Read More