मोदी जी ! हमारा मुल्क अम्बेडकर के सपनों के सामाजिक जनतंत्रा की तरफ नहीं बल्कि मनु के दिनों के झंडूतंत्रा की तरफ बढ़ रहा है

प्रधानमंत्री के नाम जिग्नेश मेवानी का खुला पत्र   आदरणीय मोदी जी कल 14 अप्रैल के दिन देश के तमाम दबे कुचले, शोषित उत्पीड़ित लोग लाखों लाख की तादाद में देश के गांवों, नगरों, शहरों में सड़कों पर निकलेंगे और बाबा साहब डा भीमराव अम्बेडकर को याद करेंगे । वही बाबा साहब जिन्होंने देश को एक ऐसा संविधान दिया जिसने कानून के सामने सभी को समान घोषित किया और सदियों से कायम मनु की व्यवस्था – जो जनम के आधार पर लोगों को उंच नीच बनाती थी – को समाप्त…

Read More