नेसार नाज़ की कहानी ‘मीरबाज़ खान’

(नेसार नाज़ कथा साहित्य में बहुत परिचित नाम नहीं है | छत्तीसगढ़ के एक निहायत ही छोटे से कस्बे बैकुंठपुर (जो अब जिला मुख्यालय बन गया है) में अपनी खूबसूरत मुस्कान के साथ लंबे डग भरते इन्हें आसानी से देखा जा सकता है | आज उनकी उम्र लगभग 62 साल है, पढ़ाई के नाम पर कक्षा सातवीं पास हैं पर हैं हिन्दी, उर्दू, छत्तीसगढ़ी के उस्ताद | नेसार नाज़ का कथाकार रूप कहीं बहुत अंधेरे में खो चुका था लेकिन भला हो कवि व आईएएस अधिकारी संजय अलंग का कि…

Read More

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर वाराणसी में निकाला गया संविधान, लोकतंत्र व आजादी बचाओ मार्च

वाराणसी। स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर संविधान, लोकतंत्र व आजादी बचाओ मार्च अंबेडकर पार्क कचहरी से जिला मुख्यालय तक निकाला गया। मार्च व सभा के माध्यम से संविधान जलाने वालों को गिरफ्तार करने, उमर खालिद के हमलावरों को जेल भेजने व मिर्जापुर में दलितों पर दमन ढाने वालों पर तत्कार कार्रवाई करने की मांग उठाई गई। मार्च का आयोजन आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति, इंसाफ मंच, अर्जक संघ, महिला जागृति समिति व भाकपा माले द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। सभा को संबोधित करते हुए एबीएसएस के जिला अध्यक्ष श्याम…

Read More