सत्ता पाने का औजार है साम्प्रदायिकता

लखनऊ में शीरोज बतकही की दसवीं कड़ी लखनऊ. हर रविवार आयोजित होने वाले शीरोज बतकही की दसवीं कड़ी में साम्प्रदायिक राजनीति के वर्तमान निहितार्थ पर बातचीत हुई. बातचीत की शुरुआत सामाजिक कार्यकर्ता दीपक कबीर ने की । उन्होंने कहा कि आइडेंटिटी पाॅलिटिक्स के नये उभार का रास्ता, साम्प्रदायिक उभार के रास्ते से संभव हो रही है। उन्होंने कहा कि पहले भी आइडेंटिटी पाॅलिटिक्स होती थी मगर तब वह सत्ता पाने का उपकरण नहीं होती थी। अब स्थिति बदल चुकी है। ब्रिटिश भारत में 1918-20 के आसपास, देश में साम्प्रदायिक संस्थाओं…

Read More

योगी राज में बढ़ती महिला हिंसा के खिलाफ लखनऊ की सड़कों पर उतरी ऐपवा की महिलाएं

महिलाओं के तेवर देखकर सड़क पर बैठ गए पुलिस अधिकारी : बोले हमारे ऊपर से होकर जाइए यूपी को अपराध, हत्या और बलात्कार की राजधानी नहीं बनने देंगे – ऐपवा सचिव लखनऊ, 21 मई. प्रदेश में बढ़ती महिला हिंसा की घटनाओं पर चारबाग रेलवे स्टेशन से मुख्यमंत्री आवास तक शांतिपूर्ण ढंग से निकल रहे ऐपवा के जुलूस को पुलिस अधिकारियों ने परमिशन न होने का हवाला देकर हुसैनगंज के निकट रोकने की कोशिश की और महिलाओं के उग्र तेवर देखकर इस कोशिश में नाकाम पुलिस अधिकारी महिलाओं के जुलूस के…

Read More