वो सूरतें इलाही किस मुल्क बसतियाँ हैं , अब जिनके देखने को आंखें तरसतियाँ हैं

15वीं बरसी पर कॉ मंजू देवी की यादें   संतोष सहर   वो सूरतें इलाही किस मुल्क बसतियाँ हैं अब जिनके देखने को आंखें तरसतियाँ हैं (अखिल भारतीय खेत ग्रामीण मजदूर सभा का  6वां राष्ट्रीय सम्मेलन आगामी 19-20 नवम्बर को जहानाबाद में आयोजित होगा।15 साल पहले 14-15 नवम्बर 2003 को आरा में इसका स्थापना सम्मेलन हुआ था। कॉ. मंजू देवी उस सम्मेलन की जोरदार तैयारियों में दिन-रात लगी हुई थीं। उसी दौरान आज ही के दिन जहानाबाद के पुराण गांव में रणवीर हत्यारों ने गोली मारकर इनकी हत्या कर डाली…

Read More

बथानी टोला जनसंहार : न्याय का इंतजार कब तक ?

22 साल पहले 11 जुलाई, 1996 को दो बजे दिन में रणवीर सेना के कोई 50-60 हथियारबन्द लोगों ने बथानी टोला को घेर कर हमला किया और दलितों, अपसंख्यको , मजदूर – किसानों, शोषितों के घर मे आग लगा कर 21 लोगों को मार डाला. महिलाओं और बच्चों को खास निशाना बनाया गया. मृतकों में 16 महिलाएं और 7 बच्चे- बच्चियाँ थीं. 3 वर्ष से लेकर 70 वर्ष तक की महिला को भी नही छोड़ा गया. हमलवार पूरे तीन घंटों तक मौत का खेल खेलते रहे. इस टोला के सौ…

Read More

फारवर्ड प्रेस के हिंदी संपादक को मिल रही जान से मारने की धमकी

फारवर्ड प्रेस हिंदी-संपादक नवल किशोर कुमार को फोन और सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर जान से मार डालने की घमकियां मिल रही हैं. धमकी देने वाले लोग स्वयं को बिहार में रणवीर सेना के संस्थापक ब्रह्मेश्वर मुखिया का समर्थक बता रहे हैं. इस संबंध में दिल्ली के पुलिस कमिश्नर, साइबर सेल और बिहार के डीजीपी से शिकायत की गई है.

Read More