इस ‘सिस्टेमेटिक’ सिस्टम से कब आजादी मिलेगी

शालिनी वाजपेयी बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में स्थित बालिका गृह में सब ‘सिस्टेमेटिक’ चल रहा था। यहां मैंनें ‘ठीक’ शब्द का प्रयोग जानबूझ के नहीं किया है। महिला आयोग, यूनीसेफ, राज्य बाल संरक्षण समिति, जिला बाल संरक्षण समिति, किशोर न्याय निगरानी समिति सभी ने बालिका गृह का ‘सिस्टेमेटिक’ निरीक्षण किया और सब कुछ सिस्टेमेटिक पाया। हर तिमाही बालिका गृह का निरीक्षण करने वाले जिलाधिकारी, अपर निदेशक समाज कल्याण विभाग तथा अन्य अधिकारियों ने भी कुछ अन-सिस्टेमेटिक नहीं पाया। यदि टाटा समाज विज्ञान संस्थान (टिस) की ऑडिट रिपोर्ट में इस बालिका गृह…

Read More