इंसेफेलाइटिस से मौतों में ‘ चमत्कारिक ’ कमी का सच क्या है ?

उत्तर प्रदेश और बीआरडी मेडिकल कालेज में इंसेफेलाइटिस (एईएस /जेई) से मौतों में ‘ भारी ’, ‘ चमत्कारिक ’ कमी का का दावा विवादों के घेरे में आ गया है. बीआरडी मेडिकल कालेज आंकड़ों को तोड़ मरोड़ कर पेश कर रहा है तो राष्ट्रीय स्तर पर इंसेफेलाइटिस के आंकड़े जारी करने वाले नेशनल वेक्टर बार्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम (एनवीबीडीसीपी) ने एक महीने में अपने ही आंकड़े में फेरबदल कर दिया और जुलाई महीने के बरक्स अगस्त महीने में इंसेफेलाइटिस से मौतों में कमी बता दी. एनवीडीसीपी ने जुलाई माह तक यूपी में एईएस से 118 और जेई से 6 मौतें दर्शायीं थी लेकिर अब अगस्त महीने तक के जारी आंकड़ों में एईएस से मौतों की संख्या घटाकर 110 और जेई से मौतों की संख्या 3 बतायी गई है जबकि अन्य राज्यों में मौतों के आंकड़े बढ़े हैं. इससे यह संदेह और पक्का हो रहा है कि आंकड़ों में फेरबदल कर इंसेफेलाइटिस से मौतों की कमी का दावा किया जा रहा है जबकि वास्तविक स्थिति कुछ और है.

Read More

बीआरडी मेडिकल कालेज में छह महीनों में 1049 बच्चों की मौत

बीआरडी मेडिकल कालेज में छह महीनों में 1049 बच्चों की मौत हो गई है। इनमें इंसेफेलाइटिस से ग्रस्त 73 बच्चे भी शामिल हैं। इस अवधि में सबसे अधिक एनआईसीयू (नियोनेटल इंटेसिव केयर यूनिट) में 681 बच्चों की मौत हुई।

Read More

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज में 136 दिन में 805 बच्चों की मौत

गोरखपुर, 19 मई. बीआरडी मेडिकल कालेज में साढे चार महीनों (136 दिन ) में 805 बच्चों की मौत हो गई है। इनमें इंसेफेलाइटिस से ग्रस्त 60 बच्चे भी शामिल हैं। इस अवधि में सबसे अधिक एनआईसीयू (नियोनेटल इंटेसिव केयर यूनिट) में 522 बच्चों की मौत हुई। ये बच्चे संक्रमण, सांस सम्बन्धी दिक्कतों, कम वजन आदि बीमारियों से पीड़ित थे। बीआरडी मेडिकल कालेज के बाल रोग विभाग में नवजात शिशुओं को एनआईसीयू और बड़े बच्चों को पीआईसीयू पीडियाटिक इंटेसिव केयर यूनिट में भर्ती किया जाता है। पीआईसीयू में इंसेफेलाइटिस से ग्रस्त…

Read More

क्या वाकई मैं कुसूरवार हूँ ? नहीं ! बिलकुल नहीं !

जेल में बंद डॉ. कफ़ील अहमद खान का का ख़त -सच बाहर ज़रूर आएगा और न्याय होकर रहेगा ( दस अगस्त 2017 को बीआरडी मेडिकल कालेज  गोरखपुर में हुए आक्सीजन कांड में बीआरडी मेडिकल कालेज के बाल रोग विभाग के प्रवक्ता एवं एनएचएम के नोडल प्रभारी रहे डॉ. कफील अहमद खान को दो सितम्बर 2017 को गिरफ्तार किया गया था. वह सात महीने से अधिक समय से जेल में बंद हैं. डॉ. कफ़ील के खिलाफ पुलिस ने 409, 308, 120 बी आईपीसी के तहत आरोप पत्र दाखिल किया है.  उनकी…

Read More

बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर का आक्सीजन कांड : सात महीने बाद जेल में बंद डाक्टरों की हिमायत में उतरा आईएमए, रिहाई की मांग उठाई

-आईएमए ने सरकार की मंशा पर उठाए सवाल, रुख स्पष्ट करने को कहा -बीआरडी मेडिकल कालेज में ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत का मामला -डा. कफील खान की पत्नी डा. शबिस्ता ने शौहर को बेगुनाह बताया फरहान अहमद गोरखपुर। बीआरडी मेडिकल कालेज में ऑक्सीजन की कमी से हुई बच्चों की मौत के मामले में जेल में बंद डाक्टरों के हिमायत में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने आखिरकार सात महीने बाद चुप्पी तोड़ी. सोमवार को प्रेस क्लब में प्रेस वार्ता कर एसोसिएशन के जिम्मेदारों ने डाक्टरों के खिलाफ हुई कार्यवाई…

Read More

बीआरडी मेडिकल कालेज में 3 माह में 504 बच्चों की मौत

गोरखपुर। बीआरडी मेडिकल कालेज में वर्ष 2018 में भी बच्चों की मौत में कोई कमी नहीं आ रही है। वर्ष 2018 के तीन महीनों में 504 बच्चों की मौत हो गई है. इसमें नवजात शिशु, इंसेफेलाइटिस मरीज और अन्य बीमारियों से ग्रस्त बच्चे हैं. यह जानकारी गोरखपुर न्यूज लाइन को मेडिकल कालेज से विश्वसनीय सूत्रों से मिली है. बीआरडी प्रशासन अगस्त महीने में आक्सीजन कांड के बाद से बच्चों की मौत के बारे में अधिकृत जानकारी नहीं दे रहा है. इस कारण मीडिया को सूत्रों पर निर्भर रहना पड़ रहा है.…

Read More

माले जांच टीम ने मुजफ्फरपुर के धरमपुर का दौरा किया , कहा – सत्ता के नशे में चूर है भाजपा-जदयू

भाकपा माले जाँच दल ने कहा कि घायल बच्चों का ठीक से इलाज नहीं हो रहा है और उन्हें कोई मुआवजा भी नहीं मिला है. यहाँ पर पहले भी ऐसी घटना हो चुकी है. ग्रामीणों की लगातार मांग रही है कि गांव के पूर्वी भाग में स्कूल का निर्माण करवाया जाए, ताकि बच्चों को एनएच पार नहीं करना पड़े लेकिन सरकार ने उन्की नहीं सुनी.   पटना. भाकपा-माले विधायक दल के नेता महबूब आलम, पार्टी की बिहार राज्य कमिटी के सदस्य उमेश कुमार तथा मुजफ्फरपुर पार्टी के जिला सचिव कृष्णमोहन…

Read More