आम जनों का चित्रकार लोवे कयाली

आम परिचय विहीन लोगों को अपने चित्रों में जिन आधुनिक चित्रकारों ने बखूबी से चित्रित किया है , उनमें सीरियाई चित्रकार लोवे कयाली ( Louay kayali ) का नाम बेहद महत्वपूर्ण है. 1965 में फिलिस्तीन अरब शरणार्थियों की व्यथा-कथा को कयाली ने लकड़ी पर तैलरंग से बने चित्र ” अब कहाँ ? में गहरी संवेदना के साथ चित्रित किया था.

Read More

इज़राइल द्वारा सोमवार नर-संहार फिलीस्तीनियों की आज़ादी की लड़ाई को कमज़ोर नहीं कर सकता

वी. अरुण कुमार   यह खूनी था, और यह हमेशा से खूनी रहा था- इज़राइली सेना के लिए, फिलिस्तीनी व्यक्ति के जीवन का मूल्य बुलेट की लागत से अधिक नहीं है। इज़राइली रक्षा बल (आईडीएफ) स्नायीपर्स (snipers) ने सोमवार को गाजा सीमा पर हजारों निहत्थे फिलिस्तीनियों पर गोली चलाई।  गोलियों और आंसू गैस का चलना जब तक थमा तब तक  लगभग 60 मासूम फिलिस्तीनियों की मौत हो गई, और 2800 से ज्यादा लोग घायल हो गए। इसी के साथ मरने वालों की संख्या जो 30 मार्च से शुरू हुए  ग्रेट…

Read More

आहेद को आज़ाद करो ! फिलिस्तीन को मुक्त करो !

  17 वर्षीय फिलिस्तीनी लड़की आहेद तमीमी इसरायली जेल में हैं क्योंकि उसने अपने घर को इसरायली सैनिकों से बचाने की कोशिश की थी. उसे ऐसा करते हुए इस वीडिओ में देख सकते हैं http://www.independent.co.uk/news/world/middle-east/ahed-tamini-trial-israel-palestinian-protest-icon-slapped-soldiers-court-west-bank-a8206361.html इसरायली सैनिकों ने आहेद के घर पर आँसू गैस छोड़ा था और खिड़कियों को तोड़ा था, उसके 14 वर्षीय भाई मोहम्मद के चेहरे को रबर बुलेट से घायल किया था, (जिसकी वजह से मोहम्मद को 72 घंटों के लिए कोमा में रखा जाना पड़ा). इसके बाद ही आहेद ने जाकर सैनिकों का सामना किया. आहेद…

Read More