एक समुदाय को दूसरे के खिलाफ खड़ा करने की कोशिश का परिणाम है मोहम्मद अज़ीम की हत्या

दिल्ली के मालवीय नगर में मोहम्मद अज़ीम की हत्या पर सीपीआईएमएल, सीपीएम, आइसा, एडवा की तथ्यान्वेषी रपट नई दिल्ली. 25 अक्टूबर को मालवीय नगर के 8 साल के एक बच्चे मोहम्मद अज़ीम  की हत्या बच्चों के ही एक समूह ने पीट-पीटकर कर दी. मोहम्मद अज़ीम मालवीय नगर इलाके के लिए जामिया फरीदया मदरसा में पढ़ाई कर रहा था. बेहद गरीब पृष्ठभूमि के उन 70 बच्चों में से वह एक था जो उस मदरसे में पढ़ते थे. मोहम्मद अज़ीम की हत्या की खबर सत्तारूढ़ भाजपा और आरएसएस द्वारा चलाई जा रही मुस्लिम -विरोधी…

Read More

वीरेनियत-3: अंत:करण के आयतन को विस्तारित करती कविताओं की शाम

वीरेन डंगवाल स्मृति में आयोजित जसम का सालाना कार्यक्रम  बीते 28 सितंबर को आयोजित यह वीरेनियत नाम से तीसरा जलसा था। जन संस्कृति मंच की ओर से इंडिया हैबिटेट सेंटर में आयोजित इस आयोजन में गुलमोहर हॉल खचाखच भरा था। नए से लेकर पुराने कवि और कविता प्रेमी दोस्तों की यह महफ़िल युवा और वरिष्ठ कवियों को सुनने के लिए जमी हुई थी। लगभग ढाई घंटे चले इस कार्यक्रम में हिंदी कविता का विराट पैनोरमा दिखा, जो मौजूदा सांस्कृतिक हालात और सत्ता संरचना की गहरी आलोचना साझा करने वाला था।…

Read More

मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के खिलाफ पूरे देश में विरोध प्रदर्शन

नई दिल्ली. लेखकों, बुद्धिजीवियों व मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के घर छापेमारी और कवि वरवर राव, वकील सुधा भारद्वाज, मानवाधिकार कार्यकर्ता अरुण फ़रेरा, गौतम नवलखा और वरनॉन गोंज़ाल्विस की गिरफ्तारी के खिलाफ पूरे देश में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. बुधवार को छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखण्ड आदि राज्यों में विरोध प्रदर्शन हुए. इन विरोध प्रदर्शनों में बड़ी संख्या में नागरिक, लेखक, सामाजिक कार्यकर्ता, मानवाधिकार कार्यकर्ता शामिल हुए. मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के विरोध में इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ भवन पर वामपंथी संगठनों द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका…

Read More

बिहार में असिस्टेंट प्रोफेसर और दिल्ली में स्वामी अग्निवेश पर हमला

सौरभ यादव   जिस समय दिल्ली में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा निकाली जा रही थी, उसी दौरान बिहार के मोतिहारी जिले मे महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में कार्यरत, जेएनयू के पूर्व छात्र संजय कुमार पर वीसी समर्थक गुंडों ने हमला कर दिया। संजय कुमार ने थाने में दर्ज की गई अपनी शिकायत में बताया कि वो कमरे में बैठ कर अपनी पढ़ाई-लिखाई सम्बंधित कार्य कर रहे थे कि तभी 20-25 लड़को का एक झुंड आया और उन्हें पीटने…

Read More

उमर खालिद पर हुए हमले से उठते सवाल

दिल्ली के कन्स्टिट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया में आयोजित ‘ख़ौफ़ से आज़ादी’ नामक कार्यक्रम में शामिल होने आए जेएनयू के शोध छात्र और एक्टिविस्ट उमर खालिद पर एक पिस्टलधारी ने सोमवार को हमला कर दिया. स्वतंत्रता दिवस से ठीक दो दिन पहले कन्स्टिट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया में हुए इस हमले से एक तरफ तो इस संवेदनशील इलाके की सुरक्षा का प्रश्न सामने आ रहा है वही दूसरी तरफ संसद मार्ग थाने पर दिल्ली पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज करने में की जा रही आनाकानी से इस हमले को सत्ता का संरक्षण मिलने की सम्भावना भी व्यक्त की जा रही है.

Read More

दिल्ली के मुखर्जी नगर में स्थानीय गुंडों के खिलाफ आंदोलनरत छात्रों पर बर्बर पुलिसिया लाठीचार्ज

सौरभ यादव, शोध छात्र, दिल्ली विश्वविद्यालय मुखर्जी नगर, दिल्ली । देश भर में प्रशासनिक सेवाओं, एसएससी, बैंकिंग समेत तमाम प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के केंद्र के रूप में जाना जाने वाला दिल्ली का मुखर्जी नगर का इलाका पिछले कुछ दिनों से आंदोलित है। यूँ तो मुखर्जी नगर में रहने वाले छात्र समय-समय पर अपनी न्यायोचित मांगों के लिए प्रदर्शन करते आये हैं । UPSC से सी-सैट हटाने का मामला रहा हो या SSC स्कैम का मामला, यहां के छात्रों ने अपने हक़ की लड़ाइयां लड़ी और अपनी मांगों को सरकार से…

Read More

कवि वीरेन डंगवाल के 71वें जन्मदिन पर बरस रही थी कवि की याद

(पांच अगस्त को हिंदी के कवि वीरेन डंगवाल का जन्म दिन होता है । देश भर में कवि की याद में हुए आयोजनों में से कुछ झलकियाँ यहां प्रस्तुत हैं ।) बरस रही थी कवि की याद  कल पांच अगस्त को कवि वीरेन डंगवाल का जन्मदिन था .कवि तो बहुत हैं और उनकी यादें भी ,परन्तु मैंने लोगों को जिस तरह वीरेन डंगवाल को याद करते हुए सुना है ,देखा है वैसा किसी को नहीं .जो उनसे एक बार भी मिला है ,जो उनसे लोगों को मिलते हुए देखा भर…

Read More

अशोक भौमिक जसम की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष और राम नरेश राम सचिव चुने गए

अनुपम सिंह नई दिल्ली. जन संस्कृति मंच का तीसरा राज्य सम्मलेन 7 अप्रैल को गाँधी शांति प्रतिष्ठान में हुआ. सम्मेलन का आरंभ ‘संगवारी थियेटर ग्रुप’ द्वारा “ये क्या हो रहा है, जो न होना था हमारे दौर में’’ गीत से हुआ. सांगठनिक सत्र की शुरुआत करते हुए अशोक भौमिक ने ‘जसम’ का परिचय दिया और कहा कि -‘भारत में सांस्कृतिक संगठन कोई एकदम नई बात नहीं है, इसके पहले प्रगतिशील लेखक संघ ,जनवादी लेखक संघ ,इप्टा आदि थे. जनसंस्कृति मंच का निर्माण उन परिस्थितियों में हुआ जब सांस्कृतिक मंचों के…

Read More

कॉमरेड कुंती देवी : क्रांतिकारी महिला आंदोलन का चेहरा

  संतोष सहर, कवि एवं संस्कृति कर्मी पिछले साल मई माह के आखिरी दिनों मैं जहानाबाद में था। हमारी पार्टी भाकपा-माले के दिवंगत महासचिव कामरेड विनोद मिश्र अक्सर कहा करते थे – ” दिल्ली का रास्ता जहानाबाद से होकर जाता है।” मैंने नोन्ही-नगवां, दमुहाँ-खगड़ी और इस्से बिगहा नाम के गांव-टोलों की यात्रा की। मगही-उर्दू के शायर वसी अहमद ‘तालिब’ की रचनाओं को हासिल किया और कॉ.  कुंती देवी से एक संक्षिप्त बातचीत भी की। कॉ.  कुंती देवी अभी हो रहे जहानाबाद विधान सभा उपचुनाव में भाकपा-माले की प्रत्याशी हैं। वे…

Read More