एक साधारण सा चित्र

यूरोप में सदियों तक धार्मिक चित्रों और राजा-रानी-सामंतों के चित्र बनाने की परंपरा चली आ रही थी, उसे चुनौती देते हुए ज्याँ फ्रांसोआ मिले जैसे जनपक्षधर चित्रकारों ने ऐसे आम लोगों के चित्र बनाये. और ऐसा करते हुए उन्होंने कलागुणों की कतई उपेक्षा नहीं की.

Read More