-7.6 C
New York City
January 22, 2020

Category : तस्वीरनामा

तस्वीरनामा

सोमनाथ होर का एक कालजयी चित्र : ‘ बंद बैठक ’

अशोक भौमिक
'बंद बैठक ' को निःसन्देह हम आधुनिक भारतीय चित्रकला के कुछ कालजयी चित्रों में से एक मान सकते है , जो अपने साथ जुड़े ऐतिहासिक...
तस्वीरनामा

एक प्रतीक चिन्ह का जन्म

अशोक भौमिक
आज जब इप्टा के 75 वर्ष के पूरे होने पर पर प्लेटिनम जुबली मनायी जा रही है तब हमें चित्तप्रसाद की एक बार जरूर याद...
तस्वीरनामा

और तुमने अपने पिता को आखिरी बार कब देखा ?

अशोक भौमिक
इस विख्यात तैल चित्र का शीर्षक जितना नाटकीय है , उतना ही नाटकीय यह चित्र भी है. चित्र का शीर्षक " और तुमने अपने पिता...
चित्रकला तस्वीरनामा

घाट पर प्रतीक्षा : ज़ैनुल आबेदिन का एक महान चित्र

अशोक भौमिक
सदियों से चित्रकला में ऐसे सहज-सरल लोगों की जिन्दगियों से जुड़े साधारण विषयों पर कभी किसी ने चित्र बनाने की जरूरत नहीं समझी. ज़ैनुल आबेदिन...
तस्वीरनामा

सत्ता का प्रतिपक्ष रचती हैं कौशल किशोर की कविताएं

  ‘वह औरत नहीं महानद थी’ तथा ‘प्रतिरोध की संस्कृति’ का हुआ विमोचन लखनऊ. ‘हंसो, इसलिए कि रो नहीं सकते इस देश में/हंसो, खिलखिलाकर/अपनी पूरी...
तस्वीरनामा

रवीन्द्रनाथ ठाकुर का चित्र ‘ माँ और बच्चा ’

अशोक भौमिक
  रवीन्द्र नाथ ठाकुर (1861-1941) को हालाँकि सभी एक विश्व प्रसिद्ध साहित्यकार के रूप में जानते हैं जिन्होंने उत्कृष्ट कविता, गीत, कहानी, उपन्यास, नाटक आदि...
तस्वीरनामा स्मृति

तीन शोक चित्र

अशोक भौमिक
( प्रख्यात चित्रकार रामकुमार का  14 अप्रैल को निधन हो गया. उन्होंने मृत्यु शैया पर मुक्तिबोध का एक चित्र बनाया था. उनको नमन करते हुए...
तस्वीरनामा

खेत मजदूरों की जिन्दगी पर 160 वर्ष पुराना एक चित्र

अशोक भौमिक
(तस्वीरनामा की सातवीं कड़ी में खेत मजदूरों पर ज्याँ फ्रांसोआ मिले द्वारा बनाये गए विश्व प्रसिद्ध चित्र ‘द ग्लेनर्स’ के बारे में बता रहे हैं...
तस्वीरनामा

अमृता शेरगिल की ‘ तीन लड़कियाँ ’

अशोक भौमिक
  ( तस्वीरनामा की छठी कड़ी में भारतीय चित्रकला के मुहावरे को बदल देने वाली विश्व प्रसिद्ध चित्रकार अमृता शेरगिल के चित्र  ‘ तीन लड़कियाँ...
तस्वीरनामा

मार्क शगाल का एक ऐतिहासिक प्रतिरोध चित्र ‘ व्हाइट क्रुसिफिक्शन ’

अशोक भौमिक
  ( तस्वीरनामा की पांचवी कड़ी में रूसी चित्रकार मार्क शगाल और उनके प्रसिद्ध चित्र ‘व्हाइट क्रुसिफिक्शन’ के बारे में बता रहे हैं प्रसिद्ध चित्रकार...
तस्वीरनामा

कला इतिहास का एक नायाब चित्र

अशोक भौमिक
( तस्वीरनामा की चौथी कड़ी में प्रसिद्ध चित्रकार अशोक भौमिक महान चित्रकार सादेकैन के एक ऐसे नायब चित्र के बारे में बता रहे हैं जो...
तस्वीरनामा

पूरब अपनी सम्पदा बर्तानिया को अर्पित कर रहा है

अशोक भौमिक
 (साम्राज्यवादी शक्तियाँ अपने स्वार्थ में चित्रकला का किस तरह से उपयोग कर सकती हैं , इसका सबसे सार्थक उदाहरण है  ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा बनवाया...
तस्वीरनामा

चित्तप्रसाद और बच्चें : जिन फरिश्तों की कोई परिकथा नहीं

अशोक भौमिक
  ( तस्वीरनामा की दूसरी कड़ी में पूरी जिंदगी जनता के सुख-दुःख, जय-पराजय और श्रम-संघर्ष को अपने चित्रों से चित्रित करने वाले चित्रकार चित्तप्रसाद द्वारा...
तस्वीरनामा

एक महान चित्र जो दूसरे विश्वयुद्ध की बमबारी में नष्ट हो गया

अशोक भौमिक
( तस्वीरनामा की पहली कड़ी में उन्नीसवीं सदी के यथार्थवादी चित्रकला धारा के अग्रणी चित्रकार ज्याँ गुस्ताव कोरबे (1819-1877)  के चित्र ‘ पत्थर तोड़ने वाले...