रोजगार के सवाल पर लखनऊ में प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस का बर्बर लाठी चार्ज

लखनऊ, 2 नवम्बर. प्रदेशभर के सैकड़ों छात्र विधानसभा भवन के सामने 1:00 बजे से इकट्ठा होने लगे थे। इकट्ठा होने के बाद छात्रों ने बैनर पोस्टर के साथ नारेबाजी शुरू कर दी जिसके बाद पुलिस प्रशासन गुस्से में आ गया और छात्र-छात्राओं पर बर्बर लाठीचार्ज किया। 68500 अध्यापकों की भर्ती में कट ऑफ मार्क को 30 प्रतिशत और 33 प्रतिशत करने, भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों को दण्डित करने, पूरी परीक्षा की सीबीआई जांच कराने के हाईकोर्ट के आदेश को लागू करने, प्रदेश में रिक्त पड़े सभी पदों को भरने, सभी…

Read More

20 साल से नियम-कानून की धज्जियाँ उड़ाती रही है वेदांता

वेदांता समूह की कंपनी स्टरलाइट कॉपर ने 20 साल तक नियम-कानून की धज्जियाँ उड़ायी. इन 20 सालों में केंद्र और राज्य में कई पार्टियां सत्ता में आयी और गयीं लेकिन इस कंपनी का कुछ नहीं हुआ. वेदांता भाजपा और कांग्रेस को मोटा चंदा देता रहा है.

Read More

मार्क्स ने खुद के दर्शन को निर्मम और सतत आलोचना के रूप में विकसित किया : दीपंकर भट्टाचार्य

मार्क्स के दबे हुए लोग और अंबेडकर के बहिष्कृत लोग एक ही हैं। इसी तरह मार्क्स ने भारत में जिसे जड़ समाज कहा, अंबेडकर ने ब्राह्मणवाद-मनुवाद कहा, एक ही है। उन्होंने कहा कि बुद्ध, अंबेडकर और मार्क्स अगर पूरक लगते हैं तो ऐसा मानने वालों को ही यह काम करना है, नई लड़ाई को चलाना है।

Read More

अपनी कथाओं में बाहरी दर्शक नहीं, खुद भी सम्मिलित हैं अमरकांत : प्रो राजेन्द्र कुमार

कथाकार अमरकान्त की स्मृति में सेंट जोसेफ़ में कार्यक्रम इलाहाबाद,  17 फरवरी. आज सेंट जोसेफ़ स्कूल के होगेन हॉल में जसम, जलेस, प्रलेस, परिवेश और अभिव्यक्ति की ओर से कथाकार अमरकान्त की याद में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस अवसर पर  ‘समकालीन चुनौती’ और ‘स्मृति में अमरकान्त’ पत्रिकाओं का अमरकान्त पर केंद्रित विशेषांक का विमोचन रविकिरण जैन, प्रो राजेन्द्र कुमार, सुधीर, अशोक सिद्धार्थ, अनीता गोपेश, रमेश ग्रोवर और शिवानंद ने किया. इस अवसर पर नीलम शंकर ने अमरकान्त की अप्रकाशित कहानी ‘साड़ियाँ’ और अरविंद बिंदु ने उनके अप्रकाशित…

Read More

मुख्य आरोपी कहाँ से पोषित है क्यों नहीं बता रही है पुलिस और मीडिया

इलाहाबाद. कासगंज के साम्प्रदायिक दंगे की आग अभी ठंडी भी नहीं पड़ी थी कि प्रतापगढ़ में बलात्कार करने के बाद राबिया की हत्या कर दी गयी। राबिया के न्याय के लिए आंदोलन चल ही रहा था कि शनिवार की रात को इलाहाबाद में इलाहाबाद विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेज एडीसी से एलएलबी कर रहे छात्र दिलीप सरोज की बेरहमी से हॉकी, रॉड और ईंट से पीट पीटकर हत्या कर दी गयी। उसका कसूर सिर्फ इतना था कि अनजाने में हत्यारे से उसका पैर टकरा गया। अनजाने में पैर लग जाने भर…

Read More