Author - पुरुषोत्तम शर्मा

किसान

भारत में राजनीतिक बदलाव का वाहक बनता किसान

घाटे की खेती के कारण पिछले डेढ़ दशक के दौरान साढ़े तीन लाख से ज्यादा किसानों की आत्महत्या और क्रूर सरकारी दमन के बाद...

Read more
जनमत

चुनाव आयोग का फैसला बड़ी पूंजी व अपराधी-माफिया के हित वाला

भारत के निर्वाचन आयोग ने अपराधिक पृष्ठिभूमि वाले उम्मीदवारों को अपने मुकदमों की जानकारी जनता को देने के लिए एक...

Read more
किसान

किसानों के इस लड़ाकू जज्बे को सलाम

मंदसौर में किसान आन्दोलन के दमन के बाद चले धारावाहिक किसान आन्दोलन के बाद दिल्ली के द्वार पर हुए किसानों के इस दमन...

Read more
किसान जनमत

कृषि अर्थव्यवस्था पर हमला है गौ रक्षा कानून

देश के जिन राज्यों में भी गौ रक्षा कानून लागू किया गया है मेरे खुद के सर्वे के अनुसार उन राज्यों में गौ-वंश की...

Read more