मुजफ्फरपुर के बाद अब यूपी में भी सरकारी बालिका संरक्षण गृहों से लड़कियां गायब, भाकपा माले और ऐपवा का राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन

उत्तर प्रदेश में देवरिया के सरकारी बालिका संरक्षण गृह में जिस तरह से 18 लड़कियों की गुमशुदगी और भाजपा मंत्रियों के संरक्षण में बेबस लड़कियों से देह व्यापार का आश्चर्यजनक मामला प्रकाश में आया. ठीक इसी तरह से एक के बाद एक हरदोई, प्रतापगढ़ के शेल्टर होम से भी लड़कियो के गायब होने की खबरें आती जा रही हैं. भाकपा माले और ऐपवा ने 8 अगस्त को प्रदेशव्यापी विरोध प्रदर्शन किया और सरकार से मांग की कि देवरिया समेत प्रदेश के सभी सरकारी संरक्षण गृहों की उच्च स्तरीय स्वतन्त्र जांच…

Read More

योगी राज में बढ़ती महिला हिंसा के खिलाफ लखनऊ की सड़कों पर उतरी ऐपवा की महिलाएं

महिलाओं के तेवर देखकर सड़क पर बैठ गए पुलिस अधिकारी : बोले हमारे ऊपर से होकर जाइए यूपी को अपराध, हत्या और बलात्कार की राजधानी नहीं बनने देंगे – ऐपवा सचिव लखनऊ, 21 मई. प्रदेश में बढ़ती महिला हिंसा की घटनाओं पर चारबाग रेलवे स्टेशन से मुख्यमंत्री आवास तक शांतिपूर्ण ढंग से निकल रहे ऐपवा के जुलूस को पुलिस अधिकारियों ने परमिशन न होने का हवाला देकर हुसैनगंज के निकट रोकने की कोशिश की और महिलाओं के उग्र तेवर देखकर इस कोशिश में नाकाम पुलिस अधिकारी महिलाओं के जुलूस के…

Read More

महिलाओं की संगठित ताकत ने बंद करा दी शराब की दुकान

बनारस शहर के चुरामनपुर गाँव की दलित बस्ती की महिलाएं और स्कूली छात्राएं पिछले एक साल से बस्ती के अंदर शराब की दुकान खुलने से परेशान थीं . कानूनी तौर पर एक गाँव में अंग्रेजी और देशी शराब की एक-एक दुकान का ही प्रावधान है लेकिन लोहता थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले इस गाँव में कानून व्यवस्था का खुले आम उल्लंघन किया गया और प्रशासन भी आँख पर पट्टी बाँध कर बैठा रहा. गाँव की महिलाओं को हर रोज शराबियों द्वारा यौन शोषण का शिकार होना पड़ता था. यहाँ…

Read More

गीतांजलि श्री के ताजा उपन्यास ‘रेत-समाधि’ पर बनारस में समीक्षात्मक चर्चा —– एक रिपोर्ट

बीएचयू आईआईटी के मानविकी विभाग की तरफ से हाल ही में हिन्दी साहित्य की समकालीन चर्चित लेखिका गीतांजलि श्री के स्त्री केन्द्रित उपन्यास रेत-समाधि पर समीक्षात्मक चर्चा की गयी. यह चर्चा महज हिन्दी साहित्य को जानने पढ़ने वाले विद्वानों द्वारा ही नहीं थी बल्कि गैर हिन्दी साहित्यिक समूहों से जुड़े लोगों ने भी उपन्यास पर समीक्षा प्रस्तुत की. स्वयं गीतांजलि श्री की कार्यक्रम में उपस्थिति चर्चा को और भी जीवन्तता प्रदान कर रही थी. कार्यक्रम के समन्वयक बीएचयू के अंग्रेजी विभाग के प्रो. संजय कुमार ने चर्चा के प्रारम्भ में…

Read More