उदय प्रकाश और उनके परिवार को पूर्ण सुरक्षा मिले, आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो-जसम

  • 174
    Shares

जन संस्कृति मंच ने मध्यप्रदेश के अनूपपुर जिले के सीतापुर गांव में खनन माफिया द्वारा हिंदी के शीर्षस्थ कथाकार, कवि उदयप्रकाश और उनके परिवार को दी जा रही धमकियों की कड़ी निंदा करते हुए उदय प्रकाश और उनके परिवार को सुरक्षा देने और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है.

जन संस्कृति मंच के महासचिव मनोज कुमार सिंह द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि स्थानीय पुलिस द्वारा आरोपियों के ख़िलाफ़ कदम न उठाया जाना दुख और चिंता की बात है. खनन माफिया के साथ स्थानीय पुलिस की मिलीभगत उदयप्रकाश के बेटे को थाने बुलाने और उन्हें धमकाने की कोशिश से साफ जाहिर है. जन संस्कृति मंच समझता है कि देश भर के हिन्दीप्रेमी पाठकों और सम्पूर्ण लेखक समुदाय में इस प्रकरण के चलते चिंता और आक्रोश की भावना व्याप रही है.

जसम की मांग है कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार लेखक और उसके परिवार को सम्पूर्ण सुरक्षा देने का प्रबंध करे और आरोपियों को निष्क्रिय करने के लिए कदम उठाए.

बयान में कहा गया है कि घटना देश के लोकप्रिय लेखक से जुड़ी है, इसलिए निरन्तर चर्चा में है. लेकिन विभिन्न राज्यों में अवैध खनन के बढ़ते साम्राज्य और उनके साथ राज्य सरकारों की मिलीभगत ने दहशत के बल पर खुली लूट का अभूतपूर्व माहौल निर्मित किया है. हालत यह हो गई है कि सर्वोच्च सरकारी पदों पर बैठे लोगों को खनन माफिया के साथ लॉबीइंग करने में कोई हिचक महसूस नहीं होती. अवैध खनन के सामंत सीधे सीधे सरकारों को नियंत्रित करने लगे हैं. उदय प्रकाश के साथ घटी घटना इस कारण भी महत्वपूर्ण है कि इसने हमारा ध्यान मौजूदा निज़ाम में माफिया घरानों की बढ़ती ताक़त की तरफ दिलाया है.

जसम अपनी पूरी क्षमता से इस संघर्ष इन लेखक और उसके परिवार के साथ है. न्याय पथ पर चलते हुए अगर लेखक और उसके परिवार के किसी सदस्य का बाल भी बांका हुआ तो हिंदी महादेश की जनता इसे क्षमा नहीं करेगी.

 

Related posts

Leave a Comment