जीविका के संसाधनों पर हक़ जमाने के लिए जनता को राजनीति पर हक़ जमाना होगा – कॉ. दीपांकर भट्टाचार्य

  •  
  • 200
  •  
  •  
  •  

मानसा (पंजाब). मानसा में सी पी आई (एम् एल ) लिबरेशन के 10 वें महाधिवेशन की शुरुआत के मौके पर आज यहाँ शहीद भगत सिंह, राजगुरु एवं सुखदेव की प्रतिमाएं स्थापित की गयीं और देश विदेश से आये हजारों कार्यकर्ताओं ने एक बड़ी जनसभा की. कांसे की बनीं प्रतिमाओं का लोकापर्ण सी पी आई (एम एल) लिबरेशन के महासचिव कॉ. दीपांकर भट्टाचार्य, शहीद भगत सिंह के भांजे प्रो. जगमोहन सिंह, नाट्यकार सेमुअल जॉन, प्रो. बावा सिंह, प्रो. अजैब टिवाना एवं रिसेप्शन कमेटी के अन्य मेम्बरों की उपस्थिति में किया गया.

इस मौके पर कॉ. दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा आज जब फासीवादी ताकतें लेनिन के बुतों पर हमले कर के इन्कलाब को मिटा देना चाहतीं हैं. उसी दौर में पंजाब में मजदूर किसान और नौजवान मिल कर शहीद भगत सिंह राजगुरु और सुखदेव की प्रतिमाएं लगा कर उन्हें जवाब दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि आज देश की राजनीति एक बड़ी तबदीली की मांग कर रही है. देश की जनता द्वारा 2014 में और पंजाब की जनता ने 2016 में खेती, रोजगार और जीविका के संसाधन बचाने के लिए जनादेश दिया था लेकिन उनके जनादेश का इस्तेमाल कारपोरेट घरानों को फायदे पहुँचाने और देश की जनता को धर्म के नाम पर बांटने के लिए किया गया.

उन्होंने कहा कि जनता को जहाँ अपने हकों पर हर हमले के खिलाफ लड़ना होगा वहीँ लोक सभा चुनाव में फासीवादी ताकतों को भी सत्ता से बाहर करना होगा उन्होंने जनता का भारत बनाने का नारा दिया. उन्होंने आम आदमी पार्टी के सुप्रीमों द्वारा मजीठिया, गडकरी से माफ़ी मांग लेने पर भी टिप्पणी की और कहा कि हमें नशा, भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई जारी रखनी होगी. उन्होंने कहा कि देश में वामपंथ की ताकत को चुनावी हार जीत से नहीं बल्कि हाथ में लाल झंडा ले कर लाखों की संख्या में आन्दोलन में उतर रहे किसानों और मजदूरों के संघर्षों में  देखा जा सकता है.

प्रोफेसर जगमोहन सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा कि फासीवादी ताकतें देश के संविधान से समाजवाद और सेकुलरिज्म को हटा देना चाहतीं हैं. उन्होंने शहीद बाबा जीवन सिंह पार्क में आजादी के शहीदों की प्रतिमाओं को महत्वपूर्ण बताया. उन्होंने उम्मीद जताई कि लिबरेशन का यह महाधिवेशन देश की जनता के सामने एक नयी उम्मीद और नया जोश ले कर आयेगा.

 

रैली को आल इंडिया किसान महासभा के महा सचिव का. राजा राम सिंह , पोलिट ब्यूरो मेम्बर का. कविता कृष्णन, आल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइस) की अध्यक्ष सुचेता डे, मजदूर मुक्ति मोर्चा के भगवंत सिंह समाओ, भाकपा माले की केन्द्रीय समिति के मेम्बर का मुहम्द सलीम, का. राजविंदर राणा, का. कंवलजीत सिंह ने भी सम्बोधित किया.


  •  
  • 200
  •  
  •  
  •  

Related posts

Leave a Comment