ओमान में नौकरी दिलाने के नाम पर झारखण्ड के 100 मजदूरों से 25 -25 हजार वसूल नकली वीजा दे दिया

  • 15
    Shares

 

झारखंडी एकता संघ और पूर्व विधायक विनोद सिंह के प्रयास से मुंबई में फंसे 25  मजदूर सरिया पहुंचे

 

संदीप जायसवाल, बगोदर से

ओमान में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगों ने झारखण्ड के 100 मजदूरों से 25-25 हजार वसूल लेकर नकली वीजा दे दिया और फरार हो गये. जबये मजदूर मुंबई एयरपोर्ट पर पहुंचे तो उन्हें रोक दिया गया. ये मजदूर मुंबई में फंस गए. जानकारी मिलने पर भाकपा माले नेता एवं  पूर्व विधायक विनोद सिंह और मुंबई स्थित झारखंडी एकता संघ ने इनकी मदद की. इनमें से बगोदर और आस-पास के 25  मजदूर 8 फ़रवरी को बगोदर वापस आ गए.

मजदूरों से ठगी करने वाले चार लोगों के खिलाफ मुम्बई में मुकदमा दर्ज किया गया है और एक आरोपी गिरफ्तार भो हो गया है.

बगोदर पहुंचने पर सभी 25 मजदूरों को लेकर पूर्व विधायक विनोद सिंह एसडीपीओ दीपक कुमार शर्मा से मिले और मजदूरों के साथ ठगी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा. श्री सिंह ने कहा कि ठगी करनेवाले किसी भी हालत में बख्शे नहीं जायेंगे  तथा उनसे रकम की वापसी के लिए हरसंभव प्रयास किया जायेगा.

ओमान में टावर बनाने का काम करनेवाली कंपनी में काम दिलाने के नाम पर इन मजदूरों से 25-25 हजार रुपये लेकर को मुम्बई बुलाया गया था । वहाँ पर सभी को नकली वीजा थमा दिया गया । वीजा लेकर जब मजदूर एयरपोर्ट पहुंचे तो उन्हें रोक दिया गया । नकली वीजा का मामला सामने आया तो मजदूरों ने जाँच पडताल शुरु की । पता चला कि इनके साथ ठगी हुआ है और सभी दलाल फरार हो गये है ।

परेशान मजदूरों ने मुंबई में झारखंडी एकता संघ के अध्यक्ष असलम अंसारी से मिलकर सहायता मांगी । संघ के अध्यक्ष असलम अंसारी, ताजुद्दीन अंसारी, असगर खान,सादरुल शेख,विजय प्रसाद, मथुरा प्रसाद, बिनोद प्रसाद, तैयब अंसारी आदि ने मिलकर इन मजदूरों के खाने व रहने की व्यवस्था की । साथ ही इन्होने मुख्यमंत्री के सचिव सुनील बर्णवाल को मामले की जानकारी दी ।

उधर पूर्व बिधायक विनोद कुमार सिंह ने अधिकारियों को इस मामले से अवगत कराया । इसके बाद  झारखंड सरकार के प्रतिनिधि चंदन झा.सीआईडी एसपी दिनेश शर्मा व सरिया डीएसपी दीपक कुमार शर्मा 5 फरवरी 2018 को मुम्बई पहुंचे। वहाँ इन्होने झारखंडी एकता संघ के अध्यक्ष असलम व मजदूरों से मामले की विस्तृत जानकारी ली तथा नागपाडा पुलिस स्टेशन मुंबई में कांड संख्या 31/18 भादवि की धारा 420,व 34 के तहत मामला दर्ज कराया जिसमें नासीर अंसारी, मनोज शर्मा, राजू समेत चार लोगों को अभियुक्त बनाया गया ।

इस मामले में एक आरोपी मनोज शर्मा को मुंबई पुलिस ने मंगलवार की शाम दक्षिण मुंबई इलाके से गिरफ्तार कर लिया । इसके बाद मजदूरों का टिकट बनाया गया और उन्हें मंगलवार की रात मुंबई हावडा मेल में बैठा दिया गया जो गुरुवार की अहले सुबह सरिया पहुंचे ।

मजदूरों ने बताया कि इस क्षेत्र के एक सौ मजदूरों को तीस हजार रुपये मासिक वेतन का आश्वासन दिया था । सात माह पूर्व दलालों ने सबसे पैसे लिए थे और कोलकाता में सभी का इंटरव्यू करवाया था। इसके बाद 22 जनवरी 2018 को दलालों के माध्यम से मजदूरों को खबरकर मुंबई बुलाया गया। सभी को ओमान के मस्कट में टावर बनाने की कंपनी में काम दिलाने का झांसा दिया गया था । मजदूरों ने झारखंडी एकता संघ व झारखंड प्रशासन व पूर्व बिधायक के प्रति आभार व्यक्त किया  है।

मुंबई स वापस आनेवाले मजदूरों की सूची

1. विजय कुमार घाघरा बगोदर

2. हिरालाल घाघरा बगोदर

3.संतोष कुमार सिंह बिष्णुगढ हजारीबाग

4.दशरथ सिंह चूरचू हजारीबाग

5.सुरेश महतो खेतको बगोदर

6.हेमलाल महतो बिष्णुगढ हजारीबाग

7.प्रवीण महतो डुमरी

8.खागेन्दर महतो बिष्णुगढ हजारीबाग

9.सुखदेव महतो गोमिया बोकारो

10.मुकेश कुमार बिष्णुगढ

11.ढालचंद महतो बिष्णुगढ

12.प्रयाग साव ढिबरा बगोदर

13.विश्वनाथ महतो ढिबरा बगोदर

14.खीरो महतो ढिबरा

15.ठाकुर प्रसाद महतो डुमरी

16.सुक्राम हांसदा बिष्णुगढ

17. खेमलाल साव ढिबरा

18. राजू कुमार घाघरा

19.सुरेश साव ढिबरा

20.मनोज कुमार ढिबरा

21.प्रकाश महतो ढिबरा

22.सुरेन्द्र महतो घाघरा

23.दशरथ महतो नावाडीह बोकारो

24.थानू महतो बिष्णुगढ

25.जितेंद्र महतो चंद्रपुरा बोकारो

Related posts

Leave a Comment